दिल्ली लैंड रजिस्ट्री / प्रॉपर्टी रजिस्ट्रेशन (सम्पूर्ण जानकारी) | Delhi Land Registry Kainse Kare | Delhi Land Registry Help 2022 | Delhi Land Registry in Hindi | Delhi Property Registry Online 2022

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली में प्रॉपर्टी खरीदने पर स्टैंप ड्यूटी और रजिस्ट्रेशन चार्ज लगते हैं, जो दिल्ली प्रॉपर्टी एंड लैंड रजिस्ट्रेशन डिपार्टमेंट को चुकाना आवश्यक होता है। दिल्ली में प्रॉपर्टी रजिस्ट्रेशन को अब ऑनलाइन कर दिया गया है, जिससे समय की काफी बचत होती है और सिस्टम में पारदर्शिता आयी है एवं दिल्ली में प्रॉपर्टी रजिस्ट्रेशन की पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन सिस्टम हो जाने से बेहद आसान हो चुकी है। नया वेब पोर्टल यूजर्स को भूमि रिकॉर्ड को देखने और डाउनलोड करने की अनुमति देता है, इसमें दिल्ली के भूमि रिकॉर्ड एजेंसियों के कब्जे में प्रमाणित, डिजिटल रूप से दस्तखत नक्शे और इसके पंजीकरण के लिए जरूरी अन्य सभी संपत्ति से संबंधित ऐतिहासिक और वर्तमान जानकारी भी सम्मलित होती है।

स्टैंप ड्यूटी | Stamp duty | Delhi Property Registry Online 2022

राज्य सरकार द्वारा अपने अधिकार क्षेत्र के (Of jurisdiction ) तहत संपत्तियों के लिए एकत्र शुल्क का ही एक प्रकार है,  व्यक्ति को देना होता है जिसने राज्य में नई ज़मीन खरीदी होती है। स्टैंप ड्यूटी कई प्रकार की संपत्तियों जैसे कृषि, स्वतंत्र घरों , फ्लैटों , टाउन शिप (Township), वाणिज्यिक इकाइयों (Commercial units) आदि पर भी सरकार द्वारा लागू की गयी है। स्टाम्प ड्यूटी जैसे चार्जेस भरने के बाद ही लैंड रजिस्ट्रेशन का कार्य पूरा होता है।

दिल्ली में प्रॉपर्टी रजिस्ट्रेशन के लिए आवश्यक दस्तावेज | Delhi Property Registry 2022 | Required Documents

  • सभी ओरिजनल दस्तावेजों की फोटो कॉपी
  • विक्रेता और खरीदार दोनों के दस्तावेजों पर दो-दो पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • स्टैंप ड्यूटी के सही मूल्य वाले ई-स्टैंप पेपर
  • अंडरटेकिंग के साथ-साथ रजिस्ट्रेशन फीस एवं ई-रजिस्ट्रेशन फीस की रसीद
  • अगर लेनदेन 50 हजार से ज्यादा है तो फॉर्म 60 या फिर स्वयं सत्यापित पैन कार्ड की कॉपी भी देनी होगी।
  • दोनों पक्षों – विक्रेताओं, खरीदारों और गवाहों के ओरिजनल आईडी प्रूफ

दिल्ली राशन कार्ड 2022

 दिल्ली में प्रॉपर्टी के दस्तावेजों की वेरिफिकेशन | Delhi Property Registration 2022 | Documents Verification 

अगर कोई भी व्यक्ति दिल्ली में प्रॉपर्टी खरीद रहे हैं तो उन्हें निम्नलिखित दस्तावेज़ों को प्रॉपर्टी रजिस्ट्रेशन से पहले बारीकी से वेरीफाई कर लेना चाहिए, यह जाँच लेना चाहिए कि सारे डाक्यूमेंट्स मौजूद हैं या नहीं :-

मदर डीड | Mother Deed for Property Registration 2022

मदर डीड एक अहम दस्तावेज़ है जो प्रॉपर्टी की ओनरशिप को ट्रेस और पर्सनल लोन लेने के लिए इस्तेमाल में लाया जाता है। मदर डीड के साथ-साथ रजिस्ट्रिंग अथॉरिटी से पेरेंट डॉक्युमेंट की सर्टिफाइड कॉपीज भी हासिल कर लेनी चाहिए।

बिल्डिंग प्लान अप्रूवल | Building for Property Registration

एक्चुअल बिल्ड-अप प्रॉपर्टी के खिलाफ अप्रूव प्लान को चेक भी कर लेना चाहिए ताकि सुनिश्चित हो सके कि कोई विचलन अथवा प्रॉब्लम तो नहीं।

अगर आप भी US में पढ़ना चाहते हैं तो जान लें SAT एग्जाम के बारे में

एन्कमब्रन्स सर्टिफिकेट | Encumbrance Certificate Delhi

एन्कमब्रन्स सर्टिफिकेट दरअसल एक ऐसा दस्तावेज़ है जो गिरवी, टाइटल ट्रांसफर या कानूनी रूप से पंजीकृत लेनदेन को प्रमाणित करता है, जो संपत्ति से जुड़ा है। विशेष संपत्ति से जुड़ी किसी भी देनदारियों की जांच करने के लिए 15 साल तक का एन्कमब्रन्स सर्टिफिकेट हासिल कर लेना चाहिए।

जाने क्या है दिल्ली सरकार की लाडली योजना और आप कैसे उठा सकते है इसका लाभ

प्रॉपर्टी टैक्स रसीद | Delhi Propery Tax Slip : 2022

प्रॉपर्टी की टैक्स रसीद पर मालिक का नाम विक्रेता के नाम से मेल खाए अथवा बिक्री की तारीख तक सारा बकाया चुका दिया गया है; आदि भी सुनिश्चित कर लेना चाहिए।

दिल्ली में स्टैंप ड्यूटी की दरें | Delhi Property Registration Rate 2022

श्रेणीस्टैंप ड्यूटी %
महिलाएं, लड़कियाँ4%
पुरुष, लड़के6%
जॉइंट ओनर्स (मेल एंड फीमेल दोनों)5%

दिल्ली में प्लॉट्स के लिए चल रहे सर्किल रेट्स | Delhi Property Cercle Rate 2022

कैटेगरी (एरिया)प्रति वर्ग मीटर के हिसाब से जमीन की कीमत 
7.74 लाख रु
बी2.46 लाख रु
सी1.60 लाख रु
डी1.28 लाख रु
 70,080 रु
एफ56,640 रु
जी46,200 रु
एच23,280 रु

लैंड रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया 2022 | Delhi Land Registration Process 2022

  • दिल्ली में लैंड रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया ऑनलाइन कर दी गयी है और इस प्रक्रिया को पूरा करने के लिए निम्नलिखित स्टेप्स फॉलो करने होंगे :-
  • दिल्ली में प्रॉपर्टी के ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के लिए एक डीड तैयार करने के लिए आधिकारिक वेबसाइट  पर जाना होगा।
  • यहां पर टॉप मेन्यू में से Deed Writer को चुनना होगा।
  • आवेदक यहां से एक नई साइट पर पहुंच जाएंगे, जहां उपयुक्त मानदंडों के मुताबिक वह डीड बनवा सकेंगे।
  • इसके पश्चात स्टैंप ड्यूटी कैलकुलेट करनी होगी।
  • प्रॉपर्टी लेनदेन पर लगने वाली स्टैंप ड्यूटी और प्रॉपर्टी रजिस्ट्रेशन चार्जेज को जानने के लिए आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • जिस भी एरिया में प्रॉपर्टी आती है, वहां के नज़दीकी सब-रजिस्ट्रार जोन पर क्लिक करना होगा। राशि की पूरी गणना लोकेशन की श्रेणी, मौजूदा ट्रांसफर पर विचार, लैंड यूज, प्लॉट का कुल एरिया, कुल प्लिंथ क्षेत्र और निर्माण के वर्ष के आधार पर होती है।
  • इसके बाद ई स्टैंप पेपर खरीदने होंगे।
  • ई स्टैंप पेपर खरीदने के लिए निकटतम स्टॉक होल्डिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया से ऊपर कैलकुलेट किए गए सटीक मूल्य का ई-स्टैंप पेपर खरीद सकते हैं। यूजर से ई-स्टैंप पेपर खरीद सकते हैं।
  • प्रक्रिया पूरी होने के बाद रजिस्ट्रेशन फीस का भुगतान करना होगा।
  • रजिस्ट्रेशन फीस के भुगतान के लिए होम पेज पर वापस जाना होगा और E-registration के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद फीस का भुगतान करना होगा और भविष्य के लिए रसीद संभाल कर रखनी होगी, जिसका इस्तेमाल भविष्य में किया जा सकता है।
  • अपॉइंटमेंट के अनुरोध के लिए Link पर जाना होगा और दिल्ली में प्रॉपर्टी रजिस्ट्रेशन के लिए सब-रजिस्ट्रार से अपॉइंटमेंट का अनुरोध डालना होगा।
  • नोट:- ऑनलाइन प्रक्रिया के बाद भी आवेदक को रजिस्ट्रार के दफ्तर जाना होगा।
  • वेरिफिकेशन के लिए आवेदक को ई-स्टैंप नंबर डालना होगा।
  • इसके अलावा आवेदक को अपना जिला, सब-रजिस्ट्रार का जिक्र कर एरिया सिलेक्ट करना होगा।
  • इसके बाद आवेदक को तय वक्त और तारीख पर एसआरओ दफ्तर जाना होगा।
  • इस समय आवेदक के पास वह अपॉइंटमेंट एसएमएस भी होना चाहिए, जो आवेदक को दिल्ली में प्रॉपर्टी रजिस्ट्रेशन के लिए मिला होगा।
  • काउंटर पर जाकर आवेदक को ज़मीन से जुड़े जरूरी दस्तावेज़ पेश करने होंगे। रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया पूरी होने के बाद यहीं से रसीद प्राप्त हो जाएगी। 

मोटर वाहन चालान विवरण

दिल्ली में संपत्ति पंजीकरण शुल्क/ फीस | Delhi Property Registration Fees 2022

भारतीय पंजीकरण अधिनियम (Indian Registration Act) 1908 की धारा 17 के तहत संपत्ति के हस्तांतरण  बिक्री या पट्टे के संबंध में दस्तावेज़ों को पंजीकृत (Registered documents) करवाना आवश्यक है। स्टैम्प वेल्यू (Stamp value) के ऊपर और पंजीकरण शुल्क (Registration fee) का भुगतान संपत्ति के ख़रीदार के द्वारा ही किया जाता है, जो बाजार मूल्य के 1% या ख़रीदार और विक्रेता के बीच सहमत होने वाले मूल्य पर पूर्ण तौर पर निर्भर करता है।

संपत्ति के पंजीकरण में संपत्ति के दो गवाहों की तस्वीरों (Witnesses and photographs) एवं उनकी उपस्थिति (presence) भी आवश्यक होती है।

दूसरे राज्यों की तरह  दिल्ली में भी यदि कोई व्यक्ति प्रॉपर्टी खरीद रहा है तो उस व्यक्ति को प्रॉपर्टी की रजिस्ट्रेशन करवाना अनिवार्य है और इस रजिस्ट्रेशन के लिए वह  ऑनलाइन सुविधा का उपयोग कर सकता है और अपनी प्रॉपर्टी को सरकारी कागजात में रजिस्टर करवा सकता है जो इस बात को सुनिश्चित करता है कि खरीद द्वारा खरीददार द्वारा खरीदी गई प्रॉपर्टी कानूनी तौर पर खरीदी गई है और इसमें किसी भी प्रकार का की धोखाधड़ी नहीं की गई बल्कि कानून द्वारा बनाए गए सारे नियमों का पालन करते हुए ही रजिस्ट्रेशन करवाई गई है;  इसलिए सभी को अपनी प्रॉपर्टी अवश्य रजिस्टर करवानी चाहिए वह भी बिल्कुल सही तरीके से।

Delhi Government SchemePM Sarkari YojanaGraduation Course

 

Spread the love

Leave a Comment