नीलांबर-पीताम्बर जल समृद्धि योजना 2022 | Nilamber Pitamber Jal Samriddhi Yojana 2022, Registration, Benefits, Eligibility

नमस्कार दोस्तों कैसे हो आप सब? दोस्तों आज हम बात करने वाले बहुत ही अनोखे योजना के विषय में जो झारखंड राज्य सरकार द्वारा झारखंड राज्य के लिए बनाया गया है। झारखंड राज्य सरकार द्वारा नीलांबर-पीताम्बर जल समृद्धि योजना को बनाया गया है। क्या है यह नीलांबर-पीताम्बर जल समृद्धि योजना? क्यों झारखंड राज्य सरकार द्वारा इस योजना को बनाया गया। इन सभी बातों पर हम विस्तार से चर्चा करने वाले हैं।

दोस्तों यदि आप भी झारखंड राज्य में रहते हैं तो आपके लिए भी यह नीलांबर-पीताम्बर जल समृद्धि योजना बहुत ज्यादा लाभकारी साबित होने वाली है। इसलिए अंत तक हमारे ब्लॉग को पढ़ें।

नीलांबर-पीताम्बर जल समृद्धि योजना का परिचय | Nilamber Pitamber Jal Samriddhi Yojana 2022

  • दोस्तों नीलांबर-पीताम्बर जल समृद्धि योजना को झारखंड राज्य सरकार द्वारा राज्य में रहने वाले लोगों के लिए बनाया गया है।
  • दोस्तों नीलांबर-पीताम्बर जल समृद्धि योजना योजना को झारखंड राज्य में जल की समस्या को दूर करने के लिए बनाया गया है।
  • 1 साल पहले ही झारखंड में नीलांबर-पीताम्बर जल समृद्धि योजना को बनाया गया है।
  • नीलांबर-पीताम्बर जल समृद्धि योजना के कारण संपूर्ण झारखंड में जमीन के नीचे के जल के स्तर को बढ़ाने में मदद प्राप्त हुआ है।
  • कहा जाता है कि झारखंड राज्य में प्रति वर्ष 13 सौ से लेकर 14 मिलीमीटर बारिश होती रहती है।
  • वर्षा के कारण वर्षा का जल 70% तक बह जाता था क्योंकि झारखंड राज्य में 70% पहाड़ है।
  • झारखंड राज में कोई छोटा डैम भी नहीं है जहां पर बारिश के पानी को संग्रहित कर के रखा जाए।
  • यदि वर्षा के जल को सम्मिलित करके रखा जाता तो वर्षा का यही पानी झारखंड राज्य के कृषकों को सिंचाई करने में मदद देता लेकिन ऐसा नहीं हो पाता था।
  • इन्हीं सब परिस्थिति के कारण झारखंड राज्य के पलामू, गढ़वा, लातेहार जैसे व्यक्ति को पानी की गंभीर समस्याओं से जूझना पड़ता था।
  • इसलिए झारखंड राज्य सरकार द्वारा नीलांबर-पीताम्बर जल समृद्धि योजना का निमार्ण किया गया।

नीलांबर-पीताम्बर जल समृद्धि योजना का मुख्य उद्देश्य | Nilamber Pitamber Jal Samriddhi Yojana 2022 : Objectives

  • झारखंड राज्य में होने वाली जल की समस्या की ओर झारखंड राज्य सरकार का ध्यान केंद्रित हुआ और उन्होंने झारखंड राज्य के हर पहाड़ियों के पास छोटा-छोटा डैम बनाने का निर्णय लिया नीलांबर-पीताम्बर जल समृद्धि योजना के तहत।
  • नीलांबर-पीताम्बर जल समृद्धि योजना वर्षा के जल को संग्रहित किया जाता है। वर्षा का जल संगीत होने से भूमि के नीचे का जलस्तर बढ़ता है और इससे कृषकों को खेती में सिंचाई करने में सुविधा प्राप्त होती हैं।
  • नीलांबर-पीताम्बर जल समृद्धि योजना के कारण मनरेगा के तहत सिंचाई कूपों का निर्माण भी किया गया। जिससे किसान अब बड़े पैमाने पर ड्रिप सिंचाई सुविधा का प्रयोग कर रहे हैं।
  • झारखंड राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी ने कहा कि नीलांबर-पीताम्बर जल समृद्धि योजना के तहत जो भी प्रयास हमारी ओर से किया गया उसका परिणाम अब हमें अपनी आंखों से दिखाई दे रहा है।
  • माननीय मुख्यमंत्री जी ने यह भी कहा कि ग्रामीण सरकार भी इस योजना से जुड़ कर जल संरक्षण की देखरेख कर रही है और इससे कृषि क्षेत्र के उत्पादन के साथ गांव का विकास भी भली-भांति हो रहा है।

नीलांबर-पीताम्बर जल समृद्धि योजना के तहत क्या-क्या मुख्य कार्य हो रहा है | Nilamber Pitamber Jal Samriddhi Yojana 2022 : Work Process 

  • झारखंड राज्य के 4000 पंचायत में इस योजना को सुचारू रूप से लागू किया गया।
  • झारखंड राज्य के कई जिलों में बंजर भूमि थी जो इस योजना के कारण फिर से हरी भरी हो गई क्योंकि बंजर भूमि का प्रयोग भी खेती के लिए किया जा रहा है।
  • नीलांबर-पीताम्बर जल समृद्धि योजना के तहत जो भी कार्य ग्रामीण क्षेत्र में हो रहे हैं उसके तहत ग्रामीण पंचायतों में रोजगार के अवसर दिन प्रतिदिन बढ़ ही रहे हैं।
  • नीलांबर-पीताम्बर जल समृद्धि योजना के तहत संपूर्ण झारखंड राज्य में चार लाख योजनाओं को लागू करने का निर्णय झारखंड राज्य सरकार द्वारा लिया गया है।
  • झारखंड राज्य सरकार द्वारा नीलांबर-पीताम्बर जल समृद्धि योजना के कारण पहले से ही 200000 योजना को झारखंड राज्य सरकार द्वारा पूरा कर दिया गया है।
  • बाकी की योजनाओं को जल्द ही पूरा कर दिया जाएगा।

दोस्तों आज हमने जाना नीलांबर-पीताम्बर जल समृद्धि योजना के विषय में जो झारखंड राज्य में झारखंड राज्य सरकार द्वारा वहां की जल की समस्याओं को दूर करने के लिए बनाया गया है। झारखंड राज्य में पहले कोई डैम नहीं था जिसके कारण वर्षा के जल को संग्रहित नहीं किया जा सकता था।

लेकिन वर्तमान समय में वर्षा के जल को संग्रहित करने के लिए छोटे-छोटे डैम बनाया गया है। इससे यह लाभ हुआ कि झारखंड राज्य के लोगों को खेती करने में सुविधा हो रही है। अब वर्षा के जल का संपूर्ण रूप से लाभ किसान उठा पा रहे हैं और इससे झारखंड राज्य के भूमि स्तर पर जल की बढ़ोतरी हुई है जो एक बहुत अच्छी खबर है।

नीलांबर-पीताम्बर जल समृद्धि योजना के तहत झारखंड राज्य में लोगों को आय भी प्राप्त हो रहे हैं और स्थिति में भी परिवर्तन हो रहे हैं।

दोस्तों हमारे ब्लॉग को शेयर करें, लाइक करें एवं कमेंट करें।

Jharkhand Sarkari YojanaGraduation CourseSarkari YojanaIndia Top ExamExcel Tutorial
Spread the love

Leave a Comment