पंजाब ग्रामीण भंडारण योजना 2022 | Punjab Gramin Bhandaran Yojana 2022, Registration, Benefits, Eligibility

भारतीय वाणिज्य एवं उद्योग मंडल की एक रिपोर्ट के अनुसार देश में भंडारण की क्षमता बहुत कम आंकी गई है। जिस कारण लगभग 11% सुरक्षित रखे जाने वाले फसल को बचाया नहीं जा पाता। भारत को दुनिया में सबसे बड़ा दुग्ध उत्पादक, दूसरा सबसे बड़ा फल उत्पादक और सब्जी उत्पादक देश माना जाता है। लेकिन इसका कुल 40 से 50 प्रतिशत उपज भंडारण उपलब्ध ना होने के कारण खराब हो जाता है। देश में पर्याप्त कोल्ड स्टोरेज ना होने के कारण किसान और सरकार दोनों को भारी नुकसान उठाना पड़ता है। पंजाब के किसानों को सबसे ज्यादा समस्याओं का सामना करना पड़ता है। क्योंकि पंजाब धान और गेहूं की खेती दोनों में सबसे आगे है।

पंजाब ने पूरे देश में 1 हेक्टेयर खेत में 40.4  क्विंटल उपजाकर पहला स्थान प्राप्त किया है। पंजाब द्वारा देश का 11.2 प्रतिशत चावल का उत्पादन किया जाता है। एसबीआई की रिपोर्ट के अनुसार धान और गेहूं का सबसे ज्यादा भंडार पंजाब के गोदामों में पाया जाता है। पंजाब में कुल भंडारण 253.89  मिलियन टन है,जबकि पंजाब राज्य की भंडारण क्षमता 234.51 मिलियन टन ही है। उपरोक्त समस्याओं के समाधान के लिए ग्रामीण भंडारण योजना का निर्माण किया गया है। ग्रामीण भंडारण योजना कृषि उपज के भंडारण के लिए ग्रामीण गोदामों या गोदामों के निर्माण के लिए किया गया है। यह नवीनीकरण के लिए एक पूंजी निवेश सब्सिडी योजना है। इस योजना के तहत सरकार द्वारा सहायता समूह को भंडार ग्रह बनाने में मदद की जाएगी। सरकार द्वारा इसका प्रबंधन खुद किया जाएगा और कम खर्च पर अनाजों का भंडारण किया जा सकेगा और अच्छे दाम मिलने पर इसे बेचा जा सकेगा।

पंजाब ग्रामीण भंडारण योजना का उद्देश्य | Punjab Gramin Bhandaran Yojana 2022 : Objectives

  • पंजाब ग्रामीण भंडारण योजना का उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में संबंधित सुविधाओं के साथ वैज्ञानिक भंडारण क्षमता को बढ़ाया जाना है।
  • इस योजना के द्वारा कृषि उपज की ग्रेडिंग, मानकीकरण और गुणवत्ता नियंत्रण को बढ़ावा दिया जाना है, ताकि इसकी वजह क्षमता में सुधार किया जा सके।
  • इस योजना के अंतर्गत किसान अपनी सुविधा अनुसार अपनी फसल को बेच सकेंगे, ना कि फसल खराब होने के डर से किसी भी भाव पर फसल को बेच देंगे।
  • इस योजना के द्वारा किसानों को फसल के भंडारण के लिए सरकार की तरफ से सब्सिडी के साथ लोन दिया जाएगा।
  • इस योजना के अंतर्गत दिया गया लोन 11 वर्ष के लिए बहुत आसान शर्तों पर दिया जाएगा।
  • इस योजना के अंतर्गत किसान खुद या सामूहिक रूप में गोदाम बनवा सकेंगे।

पंजाब ग्रामीण भंडारण योजना के मुख्य तथ्य | Punjab Gramin Bhandaran Yojana 2022 : Guidelines

  • इस योजना के लिए गोदाम में कुछ सुविधाएं जैसे की पक्की सड़क, जल निकासी की व्यवस्था, सुरक्षा व्यवस्था, सामान लाने उतारने की व्यवस्था का होना अनिवार्य होगा।
  • सभी खिड़कियां और रोशनदान पक्षियों से सुरक्षित होने चाहिए और सारे दरवाजे, खिड़कियां वायु अवरोधक होनी चाहिए।
  • गोडाउन का कीटाणु से सुरक्षित होना अनिवार्य है।
  • भंडारगृह का निर्माण सीपीडब्ल्यूडी या फिर सीपीडब्ल्यूडी- के दिशा निर्देश के अनुसार होना चाहिए।
  • इस योजना के तहत आवेदक के पास खुद की जमीन का होना अनिवार्य होगा।
  • गोदाम की क्षमता का निर्णय इस योजना के अंतर्गत आवेदन पर निर्भर किया जाएगा।
  • गोदाम का नगर निगम की सीमा क्षेत्र से बाहर होना अनिवार्य होगा।

 पंजाब ग्रामीण भंडारण योजना के तहत सब्सिडी के नियम | Punjab Gramin Bhandaran Yojana 2022 : Subsidy

  • पंजाब ग्रामीण भंडारण योजना के अंतर्गत SC/ST, पहाड़ी या दुर्गम इलाकों में रहने वाले किसानों और उनके समूह को सरकार द्वारा 3 करोड़ रुपए तक की लोन राशि 33% सब्सिडी के साथ प्रदान की जाएगी।
  • इसी योजना के द्वारा सभी किसानों, कृषि स्नातकों और सहकारी संगठनों के परियोजनाओं को 25% सब्सिडी प्रदान की जाएगी। इसके लिए अधिकतम 2.25 करोड़ रुपए की लोन राशि प्रदान की जाएगी।

 पंजाब ग्रामीण भंडारण योजना के लिए शर्तें | Punjab Gramin Bhandaran Yojana 2022 : Rules

  • इस योजना के अंतर्गत भंडारण गृह ग्रामीण क्षेत्रों में ही होना चाहिए। नगर निगम के क्षेत्र में आने वाले भंडार गृह इस योजना के पात्र नहीं बन सकेंगे ।
  • इस योजना के द्वारा भंडार गृह की ऊंचाई 5 मीटर से कम नहीं होनी चाहिए।
  • इस योजना के अंतर्गत भंडार गृह की क्षमता 50 मीट्रिक टन से कम हर 10 हजार मीट्रिक टन से ज्यादा नहीं होनी चाहिए।
  • इस योजना का पूरा लाभ लेने के लिए भंडार गृह का लाइसेंस होना अनिवार्य होगा।
  • यदि लाभार्थी को हजार मीट्रिक टन से अधिक का भंडारगृह का निर्माण करना है तो लाभार्थी को केंद्रीय भंडारण निगम से अनुमति लेनी होगी।
  • अधिकारियों द्वारा जांच की जाएगी कि भंडार गृह का निर्माण इंजीनियर द्वारा किया गया है या नहीं, इसी आधार पर ही योजना का लाभ दिया जाएगा।

  पंजाब ग्रामीण भंडारण योजना 2022 के लाभार्थी | Punjab Gramin Bhandaran Yojana 2022 : Beneficiary

  • किसान
  • किसानों का समूह
  • उत्पादकों का समूह
  • साझेदारी
  • एनजीओ
  • स्वयं सहायता समूह
  • कंपनियां और निगम
  • सहकारी संस्थाएं
  • ग्रामीण महासंघ
  • नगर निगम से इतर स्थानीय निकाय
  • कृषि उत्पादन विपणन समितियां
  • पूरे देश में विपणन बोर्ड
  • कृषि प्रसंस्करण निगम सहित सभी ग्रामीण क्षेत्र इस योजना के पात्र होंगे

पंजाब ग्रामीण भंडारण योजना 2022 के लिए दस्तावेज (पात्रता) | Punjab Gramin Bhandaran Yojana 2022 : Required Documents

  • इस योजना का लाभ किसान और कृषि से जुड़े संगठन उठा सकेंगे।
  • इस योजना का पात्र होने के लिए आवेदक का पंजाब का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है।
  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • राशन कार्ड
  • स्थाई निवास प्रमाण पत्र
  • बैंक अकाउंट डिटेल्स
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर

 पंजाब ग्रामीण भंडारण योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया | Punjab Gramin Bhandaran Yojana 2022 : Registration Process

  • सबसे पहले आवेदक को ग्रामीण भंडारण योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आवेदक के सामने होम पेज खुल जाएगा, इस होम पेज पर आवेदक को अप्लाई नाउ के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करने के बाद आवेदक के सामने आवेदन फार्म खुल जाएगा।
  • आवेदक को इस फार्म में पूछी गई सभी जानकारी दर्ज करनी होगी।
  • इसके बाद आवेदक को सारे महत्वपूर्ण दस्तावेजों को अटैच करना होगा।
  • इसके बाद आवेदक को सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आवेदक ग्रामीण भंडारण योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकेंगे।

इस योजना का उद्देश्य किसानों की आर्थिक स्थिति में बदलाव किया जाना है। जिससे कि वह अच्छी आमदनी प्राप्त कर सके। सरकार द्वारा किसानों की आर्थिक आय को सुधारने के लिए निरंतर प्रयास किया जाता है। बहुत से ऐसे किसान है, जिनके पास अनाज रखने के लिए भंडारगृह उपलब्ध नहीं होता। जिस कारण किसान को अनाज को लेकर काफी नुकसान पहुंचता है। इसीलिए वह अपनी फसल को आधे दाम पर बेच देते हैं। जिससे किसानों की आय पर काफी प्रभाव पड़ता है। लेकिन सरकार द्वारा भंडारण योजना के तहत किसानों को कारगर बनाने के लिए सहायता दी जाएगी। जिस से किसान भंडारगृह का निर्माण करके अपनी फसल को नुकसान से बचा सकेंगे।

Punjab Sarkari Yojanaग्रेजुएशन कोर्ससरकारी योजनाएं
Spread the love

Leave a Comment