राजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना | Rajasthan Antarjatiya Vivah Protsahan Yojana 2022, Registration, Benefits

नमस्कार दोस्तों आप सभी का हमारे ब्लॉग पर हार्दिक स्वागत है। आज हम बात करने वाले हैं राजस्थान राज्य के अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना के विषय में। क्या है यह अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना?इस योजना को किन लोगों के लिए बनाया गया है। जो भी अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना के आवेदक होंगे उनको क्या-क्या लाभ प्राप्त होगा। इस योजना के माध्यम से इन सभी विषयों पर आज हम हमारे ब्लॉग पर चर्चा करेंगे इसलिए अंत तक हमारे ब्लॉग पर बने रहिए।

क्या है यह राजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना | Rajasthan Antarjatiya Vivah Protsahan Yojana 2022

  • दोस्तों अंतरजातीय विवाह का अर्थ तो आप शायद जानते ही होंगे। यदि आप अंतरजातीय विवाह का अर्थ नहीं जानते तो आपकी जानकारी के लिए हम बता दे अंतरजातीय विवाह एक ऐसा विवाह होता है जिसमें दो अलग-अलग जाति के लोग विवाह के बंधन में बंधते हैं।
  • अंग्रेजी में अंतरजातीय विवाह को इंटर कास्ट मैरिज भी कहा जाता है।जैसे कोई यदि ब्राह्मण है तो वह क्षत्रिय से विवाह कर सकता है। कोई शूद्र है तो वह क्षत्रिय से विवाह कर सकता है।
  • राजस्थान राज्य में अंतरजातीय विवाह को प्रोत्साहन देने के लिए राजस्थान राज्य के लोगों को एक प्रोत्साहन राशि सरकार की ओर से अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना के तहत प्राप्त होगा।

राजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना का मुख्य उद्देश्य | Rajasthan Antarjatiya Vivah Protsahan Yojana 2022 : Objectives

  • दोस्तों आज हम सभी 21 वी शताब्दी में जी रहे हैं। हम जिस युग में जी रहे हैं इस युग को मॉडर्न युग कहा जाता है और आज भी यदि कोई जाति पाती को ज्यादा महत्व देता है तो इसका अर्थ यह है कि वह भले ही मॉडर्न युग में जी रहा हो लेकिन उसके विचार बिल्कुल भी नए ख्यालात के नहीं है।
  • जाती पाती के भेदभाव को जड़ से समाप्त करने के लिए राजस्थान के राज्य सरकार ने एक निर्णय लिया और सोच विचार के बाद उन्होंने अंतरजातीय विवाह योजना को बनाया।
  • अंतरजातीय विवाह योजना के तहत राजस्थान राज्य में जो भी व्यक्ति अन्य जाति के लड़के या लड़की से शादी करेंगे उन्हें इस योजना के तहत लाभ प्राप्त होगा।
  • अंतरजातीय विवाह योजना के तहत बार एवं वधू दोनों ही एक दूसरे के विपरीत जाति के होने चाहिए ऐसी परिस्थिति में सरकार की ओर से बधाई जोड़े को एक प्रोत्साहन राशि सरकार की ओर से प्राप्त होगी।
  • अंतरजातिय विवाह योजना के तहत बहुत सारे युवा प्रेमी एवं प्रेमिका को एक उत्साह प्राप्त होगा और वह लोग विवाह के बंधन में बंध जाएंगे।
  • इससे समाज में अंतरजातिय विवाह को पूरे विश्व भर से प्रेरणा मिलेगी और समाज से जाति के नाम पर जो लोग भेदभाव करते हैं उनके विचार धाराओं में भी बदलाव आएगा।

आइए जानते हैं कि अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना का लाभ क्या है? | Rajasthan Antarjatiya Vivah Protsahan Yojana 2022 : Benefits

  • राजस्थान राज्य में रहकर कोई लड़का या लड़की किसी अन्य जाति के लड़का या लड़की से शादी करते हैं तो उन्हें सरकार की ओर से प्रोत्साहन राशि के रूप में ₹500000 की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • जो भी लड़का या लड़की किसी अन्य जाति के व्यक्ति से शादी करेंगे। इस प्रोत्साहन राशि के माध्यम से वह अपने लिए घर बना सकते हैं या उस पैसे से अपने नए जीवन शैली के लिए कुछ नया कर सकते हैं और यह पैसा सीधे-सीधे दांपत्य जोड़े के बैंक खाते में ट्रांसफर होगा।

राजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना का लाभ उठाने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए? | Rajasthan Antarjatiya Vivah Protsahan Yojana 2022 : Eligibility

  • सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि राजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदक को राजस्थान राज्य का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  • जो भी आवेदक कर्ता होगा उसकी उम्र 35 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  • आवेदक यदि कोई कार्य करता है तो उसकी वार्षिक आय ₹200000 से ज्यादा नहीं होनी चाहिए।

मुख्य दस्तावेजों अंतरजातिय विवाह योजना के तहत लगेंगे | Rajasthan Antarjatiya Vivah Protsahan Yojana 2022 : Required Documents

  • आवेदक का पहचान प्रमाण पत्र जैसे- आधार कार्ड, वोटर कार्ड, पैन कार्ड, राशन कार्ड इत्यादि।
  • आवेदक के विवाह का प्रमाण पत्र।
  • आवेदक का आयु प्रमाण पत्र।
  • आवेदक के स्थाई निवासी होने का प्रमाण पत्र।
  • आवेदक का बैंक अकाउंट नंबर।
  • वैवाहिक जोड़े ही आवेदन करेंगे इसलिए वैवाहिक जोड़े का साथ में फोटोग्राफ।

राजस्थान अंतरजातीय विवाह योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदन कैसे करें? | Rajasthan Antarjatiya Vivah Protsahan Yojana 2022 : Registration Process

  • राजस्थान अंतरजातीय विवाह योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदक को ऑनलाइन पोर्टल का ही सहारा लेना होगा।
  • ऑनलाइन पोर्टल अर्थात राजस्थान राज्य सरकार के आधिकारिक वेबसाइट पर आपको जाना पड़ेगा। जो है-
  • इस पोर्टल पर जाते ही आपको रजिस्ट्रेशन करने का लिंक प्राप्त हो जाएगा।
  • आपसे पोर्टल पर जो भी जानकारी मांगी जाएगी आपको सभी जानकारी को सही-सही भर देना है और जो भी दस्तावेज आप से मांगे जाएंगे उन समस्त दस्तावेजों को आपको स्कैन कर अपलोड कर देना है।
  • यदि कोई व्यक्ति विवाह के 1 साल के बाद आवेदन करते हैं राजस्थान अंतरजातीय विवाह योजना के लिए तो उनके आवेदन पत्र को स्वीकार नहीं किया जाएगा।

दोस्तों आज हमने जाना कि कैसे राजस्थान सरकार के अंतरजातिय विवाह योजना का लाभ राजस्थान राज्य के सभी व्यक्ति या वह सभी वैवाहिक जोड़े उठा सकते हैं जिन्होंने अपनी जाति से हटकर विवाह किया है।

राजस्थान सरकार अपने राज्य के उन लोगों को प्रोत्साहित कर रही है। जो इंटर कास्ट मैरिज में रुचि रखते हैं ऐसे लोगों को सरकार प्रोत्साहित इसीलिए कर रही है ताकि समाज में अंतरजातीय विवाह को लेकर जो मतभेद हैं वह जड़ से समाप्त हो जाए और सभी लोग अंतर जातिय विवाह को मन से अपना ले।

राजस्थान सरकारी योजनाएंग्रेजुएशन कोर्ससरकारी योजनाएं
Spread the love

Leave a Comment