बीबीए कोर्स – ग्रेजुएशन कोर्स | BBA Graduation Course | BBA Course in Hindi

BBA Course
BBA Course

बीबीए कोर्स डिग्री प्रोग्राम है अर्थात यह एक ग्रेजुएशन कोर्स 2021 है जो 12वीं पास करने के पश्चात विद्यार्थियों द्वारा किया जाता है। बीबीए की फुल फॉर्म बैचलर आफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन है। जो विद्यार्थी होटल मैनेजमेंट, बिजनेस या फिर उच्च शिक्षा, व्यापार या नौकरी से संबंधित मैनेजमेंट मे दिलचस्पी रखते हैं, उन विद्यार्थियों को 12वीं पास करने के पश्चात बीबीए कोर्स में दाखिला लेना चाहिए।

बीबीए कोर्स करने के फायदे | BBA Course Benefits | BBA Course Career Scope

  • यदि विद्यार्थी बीबीए कोर्स कंप्लीट कर लेते हैं तो उन विद्यार्थियों को गवर्नमेंट सेक्टर तथा आईटी इंडस्ट्रीज में बड़ी आसानी से जॉब मिल जाती है और साथ में अच्छा सैलरी पैकेज भी मिल जाता है।
  • मैनेजमेंट में दिलचस्पी रखने वाले विद्यार्थियों को बीबीए के जरिएमैनेजमेंट का शिक्षण हासिल होता है, जिस की डिमांड विदेशों में भी खूब है।
  • कोऑपरेटिव एग्जीक्यूटिव के तौर पर भी बीबीए कोर्स करने वाले उम्मीदवारों की बहुत डिमांड रहती है।

बीबीए कोर्स करने के लिए योग्यता | BBA Course Eligibility

  • जो विद्यार्थी 12वीं कक्षा पास कर चुके हैं केवल वही विद्यार्थी बीबीए कोर्स के लिए अप्लाई कर सकते हैं। मेडिकल नॉन मेडिकल आर्ट्स या कॉमर्स किसी भी स्ट्रीम मैं 12वीं पास कर चुके विद्यार्थी बीबीए कोर्स के लिए दाखिला विवेक के लिए अप्लाई कर सकते हैं और मैनेजमेंट से संबंधित कॉलेज या यूनिवर्सिटी में दाखिला ले सकते हैं।
  • 12वीं कक्षा में न्यूनतम 50% अंकों के साथ उत्तीर्ण होना अनिवार्य है, जिन विद्यार्थियों के अंक 50% से कम है, वह विद्यार्थी बीबीए कोर्स के लिए अप्लाई नहीं कर सकते।

12वीं के बाद एंट्रेंस एग्जाम | BBA List of Entrance Exam

  • DUJAT, NPAT, SET और IPMAT यह कुछ ऐसे एंट्रेंस एग्जाम है, जो पूरे भारतवर्ष में बीबीए कोर्स में दाखिला लेने के लिए लिए जाते हैं।जो विद्यार्थी सरकारी कॉलेजों तथा यूनिवर्सिटी में दाखिला लेना चाहते हैं उन्हें यह एंट्रेंस एग्जाम देना और प्रवेश परीक्षा को क्लियर करना अति आवश्यक होता है।
  • 12वीं कक्षा पास करने के बाद बीबीए के लिए प्रवेश परीक्षा होती है। किसी भी स्क्रीन में 12वीं कक्षा पास करने के पश्चात BBA में एडमिशन लिया जा सकता है।बीबीए में एंट्रेंस के लिए बहुत सारे एंट्रेंस एग्जाम जैसे कि DUJAT, NPAT, SET और IPMAT लिए जाते हैं।  विद्यार्थी इन में से किसी भी एक एंट्रेंस एग्जाम को क्लियर करके कॉलेज या यूनिवर्सिटी में बीबीए कोर्स में दाखिला ले सकते हैं।

प्राइवेट कॉलेजों तथा यूनिवर्सिटी में दाखिला | BBA Admission in Private college

जो विद्यार्थी प्राइवेट संस्थानों में बीबीए कोर्स करना चाहते हैं, उन विद्यार्थियों को एंट्रेंस एग्जाम  में उत्तीर्ण होने की इतनी आवश्यकता नहीं पड़ती बल्कि वह डायरेक्ट ही कॉलेज में या यूनिवर्सिटी में दाखिला ले सकते हैं परंतु उनकी फीस ज्यादा होती है।

सरकारी संस्थानों तथा यूनिवर्सिटी में दाखिला | BBA Admission in Government College

जबकि यदि विद्यार्थी गवर्नमेंट कॉलेज में ही बीबीए करना चाहते हैं तो उन विद्यार्थियों को इन बीबीए एंट्रेंस एग्जाम में से किसी एक एंट्रेंस एग्जाम में अच्छे अंक प्राप्त करना और इसे क्लियर करना आवश्यक होता है, तभी विद्यार्थियों को गवर्नमेंट कॉलेज में  बीबीए कोर्स में दाखिला मिलता है और इसमें कम फीस लगती है। गवर्नमेंट कॉलेजों में  काफी हाई कटऑफ रखा होता है और उसी कटऑफ के दायरे में यदि विद्यार्थी अंक प्राप्त कर लेते हैं और एंट्रेंस एग्जाम क्लियर कर लेते हैं तो उन्हें बड़ी आसानी से गवर्नमेंट कॉलेज में दाखिला मिल जाता है। 

बीबीए कोर्स की फीस | BBA Course Fee | BBA Graduation Course Fee 2021

  • प्राइवेट संस्थानों में बीबीए कोर्स की फीस लगभग 1 लाख से 3 लाख होती है, परंतु यह पीस यूनिवर्सिटी एवं कॉलेजों पर निर्भर करती है क्योंकि हरएक यूनिवर्सिटी एवं कॉलेज में अपने मापदंड निर्धारित किए हुए हैं अर्थातअलग-अलग कॉलेज यूनिवर्सिटी फीस अलग अलग हो सकती है।
  • जो विद्यार्थी गवर्नमेंट संस्थानों से बीबीए कोर्स करते हैं, उन विद्यार्थियों की फीस प्राइवेट संस्थानों से कम होती है।

बीबीए कोर्स की अवधि | BBA Course Duration

बीबीए कोर्स की अवधि 3 साल होती है अर्थात यह एक 3 वर्षीय पाठ्यक्रम है, जिसको 6 सेमेस्टर में विभाजित किया गया है।

बीबीए के विषय | BBA Course Syllabus | BBA Course Subjects

  • बीबीए में एडमिशन लेने से पहले विद्यार्थियों को अपना फील्ड सिलेक्ट करना आवश्यक होता है क्योंकि उन्हें उनके द्वारा सिलेक्ट किए गए फील्ड में ही दाखिला मिलता है और उनके द्वारा सिलेक्ट किए गए विषय ही उन्हें पढ़ाए जाते हैं इसलिए विद्यार्थियों को अपनी रूचि के अनुसार अपने फील्ड को पहले ही सिलेक्ट कर लेना चाहिए।
  • बीबीए कोर्स में बीबीए के इलावा बैचलर आफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन फाइनेंसबैचलर आफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंटबैचलर आफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन  मार्केटिंग  जैसे फील्ड का अध्ययन करवाया जाता है। इन सभी फील्ड में से किसी भी एक फील्ड का सिलेक्शन कर के विद्यार्थी उसी से संबंधित विषयों में अध्ययन कर सकते हैं और अपना बीबीए कोर्स कंप्लीट कर सकते हैं।
BBA Syllabus and Subjects
BBA Syllabus and Subjects

 

इनके अलावा, बीबीए पाठ्यक्रम में निम्नलिखित प्रेक्टिकल स्किल भी शामिल हैं

BBA Practical skill
BBA Practical skill

बीबीए करने के पश्चात कैरियर एवं शिक्षा की संभावनाएं | Job For BBA Students | Career scope after BBA

  • बीबीए करने के पश्चात विद्यार्थी चाहे तो उच्च शिक्षा के लिए आगे की पढ़ाई भी जारी रख सकते हैं। बी बी ए करने के बाद मैनेजमेंट की सबसे बड़ी डिग्री एमबीए यानी कि  मास्टर आफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (MBA) जोकि 2 साल का  कोर्स  होता है, में दाखिला ले सकते हैं क्योंकि एमबीए 12वीं के बाद नहीं की जा सकती इसलिए पहले विद्यार्थियों को बीबीए ही करना होता है और उसी के बाद विद्यार्थी है एमबीए के लिए अप्लाई कर सकते हैं।
  • बीबीए करने के पश्चात विद्यार्थियों को शिक्षा व्यापार से संबंधित मैनेजमेंट सेक्टर में आसानी से जॉब मिल जाती है।
  • परंतु यदि विद्यार्थी बीबीए के पश्चात एमबीए कर लेते हैं तो उन विद्यार्थियों को ज्यादा अच्छे जॉब के अवसर प्राप्त होते हैं और साथ में अच्छी सैलरीभी।

 बीबीए करने के पश्चात जॉब प्रोफाइल | Job Profile After Complete BBA Course

बीबीए करने के पश्चात उम्मीदवारों को निम्नलिखित जॉब  प्रोफाइल के आधार पर सरकारी या प्राइवेट संस्थानों में नौकरी मिल जाती है:-

  • फाइनेंस मैनेजर
  • मार्केटिंग मैनेजर
  • रिसर्च एनालिस्ट
  • फाइनेंशियल एनालिस्ट
  • ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट
  • बिजनेस कंसलटेंट

सैलेरी पैकेज | BBA Course Salary Package 2021

जो विद्यार्थी भी बीबीए करने के पश्चात नौकरी प्राप्त कर लेते हैं, उन विद्यार्थियों को शुरुआत में तकरीबन 15,000 से 25,000  हर महीने सैलरी मिलती है, परंतु सैलरी पैकेज जॉब प्रोफाइल पर पूर्ण तौर पर निर्भर करता है।

 

बीबीए एक ऐसा स्नातक डिग्री प्रोग्राम है, जो विद्यार्थियों को बिजनेस से संबंधित हर एक प्रकार की नॉलेज प्रदान करता है। बीबीए में पढ़ाई करने के पश्चात ना केवल उम्मीदवार सरकारी या प्राइवेट सेक्टर में नौकरी प्राप्त करता है बल्कि यदि विद्यार्थी अपना खुद का बिजनेस भी शुरू करना चाहता है, तो उसे डिग्री में इस प्रकार से नॉलेज मिलती है कि वह अपना बिजनेस बहुत अच्छे तरीके से शुरू कर पाता है और उसे किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं झेलनी पड़ती जबकि जो विद्यार्थी बिजनेस की समझ नहीं रखते उन विद्यार्थियों को बिजनेस शुरू करने में बहुत सारी तकलीफों का सामना करना पड़ता है और कई बार बड़े नुकसान भी झेलने पड़ते हैं जबकि बीबीए कर चुके उम्मीदवारों को बिजनेस शुरू करने में किसी प्रकार का नुकसान नहीं झेलना पड़ता क्योंकि मार्केट के बारे में तथा बिजनेस के बारे में उन्हें नॉन बिजनेस बैकग्राउंड वाले लोगों से ज्यादा समझ होती है। यह बीबीए करने वाले उम्मीदवारों का एक प्लस पॉइंट है।

इसलिए 12वीं पास करना करने के पश्चात इन विद्यार्थियों का मन बिजनेस ओरिएंटेड स्टडी  करने में है, उन विद्यार्थियों को बिना समय गवाएं  उस कॉलेज या यूनिवर्सिटी में BBA में दाखिला ले लेना चाहिए, जहां पर BBA कोर्स करवाई जाती  है क्योंकि हर एक कॉलेज बीबीए कोर्स नहीं करवाता; कुछ चुनिंदा कॉलेज और यूनिवर्सिटी बीबीए कोर्स करवाती हैं इसलिए विद्यार्थियों को पहले से ही उन कॉलेजों तथा यूनिवर्सिटी ओं की जानकारी प्राप्त कर लेनी चाहिए और अपना नाम वहां पर नामांकित कर देना चाहिए। जो विद्यार्थी प्रवेश परीक्षा के द्वारा सरकारी यूनिवर्सिटी या कॉलेज में दाखिला लेना चाहते हैं,  उन्हें समय रहते ही प्रवेश परीक्षा के लिए तैयारी आरंभ कर देनी चाहिए तभी उन्हें  सरकारी कॉलेज या यूनिवर्सिटी में दाखिला मिलेगा अर्थात लक्ष्य निर्धारित करना बहुत आवश्यक है। विद्यार्थियों को अपने लक्ष्य की प्राप्ति के लिए पहले से ही तैयारी आरंभ कर देनी चाहिए ना कि समय का इंतजार करना चाहिए।

कॉमर्स स्ट्रीमसाइंस स्ट्रीम PCMसाइंस स्ट्रीम PCBM
Spread the love

Leave a Comment