जाने एलएलबी फाउंडेशन क्या है और आप इसमें अपना करियर कैसे बना सकते है | LLB Foundation Course in Hindi | LLB Foundation Course Fee 2021 | LLB Foundation Course Details | LLB Foundation Course Admission 2021

LLB Course 2021
LLB Course 2021

क्या आपको पता है एलएलबी क्या है एक वकील का कार्य अपराधियों पर मुकदमा चलाया और निर्दोष लोगों को बचाना होता है। वकीलों को बहुत अधिक आत्मविश्वास होना चाहिए और एक न्यायाधीश के साथ अच्छी तरह से बहस करना आना चाहिए। यह वही है जो लोग एलएलबी के बारे में सोचते हैं यह एक वकील को परिभाषित करता है, लेकिन क्या यह वास्तव में सही है एक वकीलों की नौकरी लोगों की तुलना में कम रोमांचक है। एक वकील कॉन्ट्रैक्ट बनाने, दस्तावेजों की पुष्टि करने के लिए काफी समय व्यतीत करता है। वकीलों को अच्छी अंग्रेजी की आवश्यकता होती है क्योंकि उन्हें बहुत सारे दस्तावेज़ बनाना और सत्यापित करना होता है। एक ग्राहक को वकील की सेवाओं की जरूरत होती है जब वह मुकदमा, दायित्व के साथ सेवा करता है या जब वह किसी के साथ अनुबंध में प्रवेश करता है यह एक वकील का काम है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि ग्राहक के हितों की रक्षा की जा रही है या नहीं।

एलएलबी की फुल फॉर्म बैचलर ऑफ लॉ होती है। एलएलबी को हिंदी में विधि स्नातक कहते है। एलएलबी को लैटिन भाषा में लेगम बॅकलॉरेस कहा जाता है। एलएलबी कानून और विधि से जुडी हुई एजुकेशनल डिग्री (ग्रेजुएशन कोर्स) है। एलएलबी कोर्स में बच्चों को लॉ की पूरी जानकारी दी जाती है। एलएलबी कोर्स करने के बाद बच्चे वकील बन जाते है और फिर कोर्ट में मुकदमे लड़ते है। भारत मे लॉ की पढाई के लिए सबसे पहली यूनिवर्सिटी बेंगलुरु में बनाई गई थी। इस यूनिवर्सिटी की शुरुआत सन 1987 में हुई । एलएलबी एक 3 साल का कोर्स है और इसको 6 सेमेस्टर में डिवाइड किया गया है। एलएलबी कोर्स के पूरा होने पर यानी के 6 सेमेस्टर पास होने के बाद बच्चों को एलएलबी की डिग्री प्रदान की जाती है। एलएलबी की डिग्री मिलने के बाद बच्चे को पूरी तरह से वकील बनने के लिए उन्हें All India Bar Exam भी पास करना होता है जिसके बाद छात्र पूरी तरह से वकील बनते है।

एलएलबी करने के लिए बच्चों को क्या करना चाहिए | Eligibility for LLB Course

एलएलबी एक कानून में स्नातक की डिग्री  (Graduation Course) है एलएलबी की फुलफार्म होती है बैचलर ऑफ लॉ। आज के समय में बच्चे चाहते हैं कि वे अपना करियर कानून के क्षेत्र में बनाएं। क्योंकि इस क्षेत्र में आपको अनेकों नौकरी के काफी अच्छे अवसर मिल जाते हैं। कानून से सम्बंधित सभी विषयों के बारे में सम्पूर्ण जानकारी लॉ के कोर्स बैचलर ऑफ लॉ में दी जाती है। हमारे देश में शांति व्यवस्था बनाये रखने का काम कानून का होता है। और साथ ही समाज में होने वाले अपराधों को रोकना भी कानून का काम है। अगर कोई बच्चा 12 वीं के बाद एलएलबी करना चाहते हैं तो वह पांच वर्षीय का एलएलबी कोर्स कर सकता हैं। जबकि तीन वर्षीय एलएलबी कोर्स करने के लिए आपको स्नातक (graduation) पूरा करना होगा। अगर आप भी एलएलबी कोर्स को करना चाहते हैं तो आपको एंट्रेंस टेस्ट उत्तीर्ण होगा। साथ ही साथ आपको बता दें कि लीगल सेक्टर की सर्वोच्च प्रोफेशनल उपाधियां में एलएलबी यानी कि बैचलर ऑफ लॉ और एलएलएम यानी कि मास्टर ऑफ लॉ हैं। अगर आप एलएलबी उत्तीर्ण करने के बाद स्नातकोत्तर करना चहाते हैं तो आप दो वर्षीय एलएलएम पाठ्यक्रम में प्रवेश ले सकते हैं। इसके बाद आप पीएचडी भी कर सकते हैं। जिससे आपको शिक्षक के क्षेत्र में भी अवसर मिलेंगे। जब आप एलएलबी पूरा कर लेते हैं उसके बाद आप युवा बार काउंसिल में पंजीकरण कराने के बाद देश की किसी भी अदालत में मुकदमों की पैरवी कर सकते हैं। आप क्रिमिनल, रेवेन्यू या सिविल में से कोई भी क्षेत्र चुन सकते हैं।

एलएलबी कोर्स के लिए बच्चे में ये सभी योग्यता होनी चाहिए | Bachelor of Law (LLB) Eligibility Criteria

आमतौर पर अपने देखा होगा की, एलएलबी के लिए योग्यता बच्चों के स्नातक परीक्षाओं में प्राप्त अंकों के आधार पर होती है। इसके लिए इच्छुक उम्मीदवार को को B.A., B.Com., B.Sc. Degree न्यूनतम 45% अंकों के साथ पास होना चाहिये। जबकि एससी और एसटी के बच्चों ले लिए 35% अंकों के साथ स्नातक की डिग्री होनी चाहिए। हालांकि, कुछ ऐसे भी विश्वविद्यालय है जो एलएलबी कोर्स में प्रवेश देने के लिये प्रवेश परीक्षा भी आयोजित करते हैं। यह प्रवेश परीक्षा लिखित परीक्षा होती है जहां प्रश्न रीजनिंग, गणित, अंग्रेजी और सामान्य ज्ञान पर आधारित होते हैं। बैंगलोर में नेशनल लॉ स्कूल जैसे कुछ संस्थान है जो अखिल भारतीय प्रवेश परीक्षा आयोजित करते हैं। इस कोर्स में प्रवेश पाने के लिए बच्चों को एक प्रवेश परीक्षा और एक व्यक्तिगत इंटरव्यू देना होता है उसके बाद ही बच्चों को इस कोर्स में प्रवेश मिल पता है।

एलएलबी कोर्स फीस 2021 | LLB Course Fee 2021

फीस निम्नलिखित पहलुओं पर निर्भर करती है –

  • कॉलेज का प्रकार (Government/Private)
  • छात्र की छात्रवृत्ति स्थिति (Scholarship)
  • कॉलेज की रेटिंग आदि

औसत, फीस प्रति वर्ष 50-150K INR के बीच कहीं भी हो सकती है।

बैचलर ऑफ लॉ (एलएलबी) सिलेबस | LLB Course Syllabus

LLB Course Syllabus
LLB Course Syllabus

कैसे बनाये एलएलबी के बाद अपना करियर | Career After LLB Course

हमारे देश में बच्चों को एलएलबी कोर्स करने के बाद आसानी से जॉब मिल जाती है क्योंकि आज के समय में कानून के क्षेत्र में काफी अच्छे स्कोप होते हैं।

  • लॉ फर्म (एसोसिएट)
  • ऍमएनसी (लीगल अफसर)
  • गोवेरमेंट एजेंसी
  • जुडिशल एसएमस
  • बैंक
  • लिटिगेशन

हमारे देश के 18 संस्थान में एलएलबी की पढाई के लिए कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट परीक्षा आयोजित की जाती है। बच्चों में उपरोक्त योग्यता होने पर ही वह इस परीक्षा में बैठ सकते है। परीक्षा के संपन्न होने के बाद cut off लिस्ट निकाल कर बच्चो की एक लिस्ट तैयार की जाती है और उसके बाद चयनित बच्चो का प्रवेश लिया जाता है जहाँ आप अपनी एलएलबी की पढाई पूरी कर सकते है। इसके अलावा कई यूनिवर्सिटी और राज्य स्तरीय प्रवेश परीक्षा आयोजित करते हैं। जहाँ योग्यता होने पर  परीक्षा देकर आप प्रवेश ले सकते हैं।

एलएलबी स्कोपसैलरी और जॉब विकल्प | LLB Course Salary and Jobs 2021 

एलएलबी कोर्स पूरा करने के बाद वेतन नौकरी के प्रकार पर निर्भर करती है जो उम्मीदवार ने एडमिशन लेते समय चुना हो। एलएलबी कोर्स पूरा करने के बाद फ्रेशर 4-6 लाख प्रति वर्ष। हालांकि, सरकारी वकील 6 – 8 लाख प्रति वर्ष और कॉर्पोरेट वकील और सलाहकार भी 8 -12 लाख प्रति वर्ष तक कमा सकता है ।
एक अच्छा वेतन पाने के लिए, कानून में स्नातकोत्तर डिग्री बहुत आवश्यक है।

एलएलबी करने के लिए कुछ प्रवेश परीक्षा 2021 | LLB Course Entrance Exam 2021

  • सीएनएलयू – पटना
  • एनएलयूओ – कटक
  • एनएलयूजेएए – गुवाहाटी
  • डीएसएनएलयू – विशाखापत्तनम
  • एचएनएलयू – रायपुर
  • जीएनएलयू – गांधीनगर
  • आरएमएलएनएलयू – लखनऊ
  • आरजीएनयूएल – पटियाला
  • टीएनएनएलएस-तिरुचिरापल्ली
  • एमएनएलयू – मुंबई
  • एनएलएसआइयू – बैंगलोर
  • नालसर – हैदराबाद
  • डब्ल्यूबीएनयूजेएस – कोलकाता
  • एनएलयू – जोधपुर

हमारे देश में एलएलबी करने के लिए कुछ प्रसिद्ध कॉलेज | Top College list for LLB Course

  • गुजरात नेशनल लॉ युनिवर्सिटी, गांधीनगर
  • आर्मी इंस्टीट्यूट ऑफ लॉ, मोहाली
  • स्कूल ऑफ लॉ मसीह विश्वविद्यालय (एसएलसीयू, बैंगलोर)
  • न्यू लॉ कॉलेज, भारती विद्यापीठ डीम्ड विश्वविद्यालय, पुणे
  • सिंबायोसिस लॉ स्कूल, पुणे
  • नेशनल लॉ स्कूल ऑफ इंडिया यूनिवर्सिटी, बैंगलोर
  • अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय
  • L.E. सोसाइटी लॉ लॉ कॉलेज, बैंगलोर
  • पश्चिम बंगाल नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ जुरियाडिकल साइंसेस, कोलकाता
  • एमिटी लॉ स्कूल, दिल्ली, नोएडा
कॉमर्स स्ट्रीमसाइंस स्ट्रीमआर्ट्स स्ट्रीम
Spread the love

Leave a Comment