प्रधानमंत्री खनिज क्षेत्र कल्याण योजना 2022 | Pradhan Mantri Khanij Kshetra Kalyan Yojana 2022 | PM Khanij Kshetra Kalyan Yojana 2022, Registration, Benefits, Eligibility

प्रधानमंत्री खनिज क्षेत्र कल्याण योजना का शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा किया गया है। इस प्रधानमंत्री खनिज क्षेत्र कल्याण योजना का उद्देश्य खनन से प्रभावित क्षेत्र के लोगों के विकास एवं सम्मान के लिए काम किया जाना है। खनन की वजह से विस्थापित या यहां काम करने वाले परिवारों के लिए देश में इतनी बड़ी योजना शुरू की गई है। इस कार्य के लिए फंड की व्यवस्था जिला मिनरल फाउंडेशन द्वारा की जाएगी। किसी भी देश के विकास के लिए संसाधनों की आवश्यकता होती है। संसाधन प्राकृतिक रूप में पाए जाते हैं हैं। इसके लिए खनन किया जाता है और खनन करने के दो तरीके होते हैं। एक है जमीन की ऊपरी तरह को छेड़े बिना सुरंग के रूप में जमीन में जाना और वहां से खनिज पदार्थों को निकाला जाना है। ऐसा कोयले की खानों की खुदाई के वक्त होता है। जबकि कई खनिज पदार्थ जमीन की ऊपरी सतह, नदियों के आसपास और जंगलों में होते हैं। इसको ऊपर से ही उठाया जाता है। जिससे क्षेत्र के भौगोलिक स्वरूप में परिवर्तन हो जाता है।

इस कार्यक्रम से खनन से संबंधित परिचालनों से प्रभावित लोगों और क्षेत्रों का कल्याण किया जाएग। इस योजना में डिस्ट्रिक मिनरल फाउंडेशन (डीएमएफ) द्वारा उपलब्ध कराई गई निधि का उपयोग किया जाएगा। डीएमएफ खनन संबंधित कार्यों से प्रभावित देश के सभी जिलों में खान एवं खनिज (विकास और विनियमन) संशोधन अधिनियम बनाए जाएंगे।

प्रधानमंत्री खनिज क्षेत्र कल्याण योजना 2022 का उद्देश्य | Pradhan Mantri Khanij Kshetra Kalyan Yojana 2022 : Objectives

केंद्र सरकार की नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा विस्थापितों और खनन का काम करने वाले लोगों के कल्याण के लिए दीर्घकालिक योजना का आयोजन किया गया है। ऐसा पहली बार हुआ है कि सरकार द्वारा खनन से प्रभावित होने वाले लोगों के विकास के लिए कोई कल्याण योजना शुरू की गई है। प्रधानमंत्री खनिज क्षेत्र कल्याण योजना के द्वारा सरकार का उद्देश्य है, कि खदानों के आस पास रहने वाले लोगों और कामगारों के जीवन में सुधार लाया जाएगा और उन्हें सुरक्षित रखा जाएगा। प्रधानमंत्री खनिज क्षेत्र कल्याण योजना के तहत केंद्र सरकार आदिवासी लोगों के कल्याण के लिए जिला मिनरल फाउंडेशन फंड की स्थापना की गई है। प्रभावित होने वाले लोगों के भविष्य को लेकर कभी चिंता नहीं दिखाई गई इसलिए देश के विकास के लिए खनन जरूरी है और ऐसे में वहां के लोगों को हटाना भी जरूरी होगा। इसके साथ ही उन लोगों के जीवन पर भी प्रभाव पड़ता है, जो खनन के क्षेत्र में काम कर रहे होंगे। इन लोगों का भविष्य भी सुरक्षित नहीं होता है। काम से निकाले जाने का डर तो होता ही है, खनन कार्य के दौरान जान का जोखिम और बीमारी का खतरा भी हमेशा मंडरता रहता है।

प्रधानमंत्री ऑपरेशन डिजिटल बोर्ड 2022

 

 प्रधानमंत्री खनिज क्षेत्र कल्याण योजना 2022 के लाभ | Pradhan Mantri Khanij Kshetra Kalyan Yojana 2022 : Benefits

  • खनन से प्रभावित क्षेत्रों में विभिन्न विकास तथा कल्याणकारी परियोजनाओं/कार्यक्रमों को लागू किया जाएगा। ये राज्य और केंद्र सरकार की वर्तमान में चल रही योजनाओं/परियोजनाओं की सम्पूरक भी होगा।
  • खनन जिलों में लोगों के स्वास्थ्य और सामाजिक-अर्थव्यवस्था, पर्यावरण पर खनन के दौरान और बाद में पड़े प्रतिकूल प्रभाव को कम करना किया जा सकेगा।
  • खनन क्षेत्रों में प्रभावित लोगों के लिए दीर्घावधि टिकाऊ जीवन यापन सुनिश्चित किया जाएगा। जीवन की गुणवत्ता में ठोस सुधार सुनिश्चित करते हुए जीवन के सभी पहलुओं को शामिल किया जाएगा। पीने के पानी की आपूर्ति, स्वच्छता, शिक्षा, कौशल विकास, महिला और बाल विकास, वरिष्ठ तथा विकलांगजनों का कल्याण, कौशल विकास और पर्यावरण संरक्षण जैसे उच्च‍ प्राथमिकता वाले क्षेत्र इस निधि का कम से कम 60 प्रतिशत हिस्सा प्राप्त कर सकेंगे।
  • हितकर जीवन यापन वातावरण बनाने के लिए निधि की शेष राशि सड़क, पुल, रेलवे, जलमार्ग परियोजनाओं, सिंचाई और वैकल्पिक ऊर्जा स्रोतों को बनाने पर खर्च किया जाएगा।

प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना 2022

 

प्रधानमंत्री खनिज क्षेत्र कल्याण योजना 2022 की विशेषताएं : PM Khanij Kshetra Kalyan Yojana 2022 : Features

  • प्रधानमंत्री खनिज क्षेत्र कल्याण योजना के लिए सरकार द्वारा धन जुटाने का प्रबंध किया गया है। इसके लिए सरकार ने खनन का पट्टा लेने वालों को नोटिस भी जारी कर दिया गया है।
  • पट्टाधारक जिनको खनन के लिए पट्टा पहले दिया जा चुका है, वे फंड को प्रदान की जाने वाली रॉयल्टी से अतिरिक्त भुगतान कर सकेंगे जो कि 30 परसेंट से ज्यादा होगा।
  • जिन लोगों को बाद पट्टा प्राप्त होगा, वह रॉयल्टी का 10 प्रतिशत अधिक भुगतान कर सकेंगे जो कि फंड में जाएगी। इस प्रधानमंत्री खनिज क्षेत्र कल्याण योजना के अंतर्गत 6000 करोड़ रुपये जुटाए जाएंगे जो लोगों के कल्याण के लिए खर्च किए जाएंगे।
  • इसके अलावा खनन पट्टों, रवन्ने से होने वाली आय का भी एक हिस्सा खनन प्रभावित इलाकों के विकास और वहां रहने वाले लोगों के कल्याण के लिए खर्च किया जाएगा। जिलास्तर पर एकत्र होने वाले फंड को विकास कार्यों पर किस तरह खर्च किया जाएगा, इसकी निगरानी राज्य व केंद्र सरकार के अधिकारियों द्वारा की जाएगी
  • इस प्रधानमंत्री खनिज क्षेत्र कल्याण योजना द्वारा किसानों का कल्याण किया जाएगा। प्रधानमंत्री खनिज क्षेत्र कल्याण योजना के तहत एकत्र होने वाले फंड का एक हिस्सा कृषि क्षेत्र पर खर्च किया जाएगा। भूमि सुधार के साथ ही सिंचाई के बंदोबस्त किए जाएंगे। इसके अंतर्गत नहर और कैनाल का निर्माण किया जाएगा।
  • प्रधानमंत्री खनिज क्षेत्र कल्याण योजना के अंतर्गत खनन वाले इलाकों में जलमार्ग परियोजनाओं का विकास किया जाएगा। जिससे के सड़क मार्ग पर दबाव कम किया जा सकेगा। इससे खनिज पदार्थों को सड़क की जगह पर जलमार्ग से भेजा जाएगा। इससे प्रदूषण में कमी आएगी और साथ ही ईधन की भी भारी बचत होगी।
  • पुलों व सड़कों का निर्माण भी प्रधानमंत्री खनिज क्षेत्र कल्याण योजना के अंतर्गत किया जाएगा। इसका सीधा लाभ वहां रहने वाले लोगों को होगा। उनका देश के साथ संपर्क बेहतर हो सकेगा। शिक्षा व व्यवसाय के लिए लोगों को बाहर जाने में दिक्कत नहीं होगी।
  • प्रधानमंत्री खनिज क्षेत्र कल्याण योजना के अंतर्गत रेल की नई लाइनें बिछाई जाएंगी। प्रयास यह होगा कि इलाके से खनिज पदार्थ रेल मार्ग से ही दूरदराज के क्षेत्रों में पहुंचाया जा सके। इसका भी लाभ सीधा पर्यावरण को होगा और सड़क पर ट्रकों को कम दौड़ना पड़ेगा। जब रेल मार्ग बनेगा तो वहां तक यात्री ट्रेनों का भी संचालन किया जा सकेगा।

प्रधानमंत्री ग्राम परिवहन योजना 2022

 

प्रधानमंत्री खनिज क्षेत्र कल्याण योजना 2022 के अंतर्गत मिलने वाली सुविधाएं | PM Khanij Kshetra Kalyan Yojana 2022 : Facility

  • स्वास्थ्य देखभाल की सुविधा,
  • स्वच्छ और स्वास्थ्यकारी पीने के पानी की सुविधा
  • कौशल का विकास,
  • शिक्षा,
  • स्वच्छता,
  • बच्चों और महिलाओं की देखभाल,
  • विकलांग और वृद्ध लोगों के लिए कल्याणकारी उपाय |

प्रधानमंत्री खनिज क्षेत्र कल्याण योजना 2022 के लक्षित लाभार्थी | Pradhan Mantri Khanij Kshetra Kalyan Yojana 2022 : Beneficiary 

  • प्रत्यक्ष रूप से प्रभावित क्षेत्र :-  इस योजना के तहत जहां उत्खनन, खनन, विस्फोटन, लाभकारी एवं अपशिष्ट निपटान आदि जैसे प्रत्यक्ष खनन संबंधित संचालन स्थित होंगे।
  • अप्रत्यक्ष रूप से प्रभावित क्षेत्र :-  जहां खनन संबंधित संचालनों के कारण आर्थिक, सामाजिक एवं पर्यावरण दुष्परिणामों की वजह से स्थानीय जनसंख्या पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता होगा। जिसकी वजह से जल, मृदा एवं वायु गुणवत्ता को नुकसान हो सकता है, झरनों के प्रवाह में कमी आ सकती है और भू-जल कम हो सकता है आदि को शामिल किया जाएगा।
  • प्रभावित लोग/समुदाय :- भूमि अधिग्रहण, पुनर्वास एवं पुनः स्थापन अधिनियम में उचित क्षतिपूर्ति एवं पारदर्शिता के अधिकार के तहत ‘’प्रभावित परिवार’’ और ‘’विस्थापित परिवार’’ के रूप में चिन्हित परिवार और ग्रामसभा के मशविरे से चिन्हित अन्य परिवार शामिल होंगे।

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना 2022

 

केंद्र सरकार द्वारा खनन से सीधे या परोक्ष रूप से प्रभावित क्षेत्रों में रहने वाले लोगों के जीवन में बदलाव हेतु प्रधानमंत्री खनिज क्षेत्र कल्याण योजना का शुभारंभ किया गया है। खनन देश में कृषि के बाद सबसे अधिक रोजगार मुहय्य कराया जाता है। अगर इस क्षेत्र में सुधार होगा, तो वो यकीनन एक बहुत बड़े तबके के जीवन को प्रभावित करेगा यही कारण है की खनिज क्षेत्र कल्याण योजना एक आशा की किरण के समान नजर आ रही है।

PM YojanaGraduation CourseSarkari YojanaIndia Top ExamExcel Tutorial
Spread the love

Leave a Comment