जाने क्या है फार्मेसी, और आप कैसे बना सकते है इसमें अपना करियर | Pharmacy Course in Hindi | Pharmacy Course Fee 2021 | Pharmacy Course Admission Form 2021

Pharmacy Course in Hindi
Pharmacy Course in Hindi

आज के समय मे फार्मेसी करियर की बहुत ज्यादा संभावनाएं हैं। अगर आप भी जानना चाहते हैं कि फार्मेसी में करियर कैसे बनाये, तो इस आर्टिकल से हम आपको फार्मेसी में करियर बनाने की सारी जानकारी देंगे। जिससे आपके फार्मेसी करियर से रिलेटेड सारे डाउट दूर हो जाएं। इस आर्टिकल मे हम आपको बताएंगे कि फार्मेसी में करियर बनाने के लिए कौन सा कोर्स करें। फार्मेसी कोर्स किस कॉलेज से करना चाहिए। फार्मेसी में करियर ऑप्शन क्या हैं। फार्मेसी कोर्स की फीस कितनी होती है। यानी कि इस आर्टिकल में फार्मेसी में करियर कैसे बनाये इससे रिलेटेड हर तरह की स्टेप ब्य स्टेप पूरी जानकारी आपको मिलेगी।

Contents hide

फार्मेसी में डिप्लोमा पाठ्यक्रम:

फार्मेसी में डिप्लोमा पाठ्यक्रमों की सूची देखें:

कोर्स का नामअवधि
D.Pharm (Diploma in Pharmacy) | D.Pharm
(फार्मेसी में डिप्लोमा)
2-Years
Diploma in Veterinary Pharmacy (पशु चिकित्सा फार्मेसी में डिप्लोमा)
Diploma in Pharmaceutical Management (फार्मास्युटिकल मैनेजमेंट में डिप्लोमा)
Post Graduate Diploma in Herbal Products (हर्बल प्रोडक्ट्स में पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा)1-Year to 3-Years
Post Graduate Diploma in Pharmaceutical Quality Assurance (फार्मास्यूटिकल क्वालिटी एश्योरेंस में पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा)
Post Graduate Diploma in Pharmaceutical Chemistry (फार्मास्यूटिकल केमिस्ट्री में पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा)
Post Graduate Diploma in Pharmaceutical Regulatory Affairs (फार्मास्युटिकल नियामक मामलों में स्नातकोत्तर डिप्लोमा)
Post Graduate Diploma in Pharmacovigilance (फार्माकोविजिलेंस में पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा)
Post Graduate Diploma in Principles of Clinical Pharmacology (क्लिनिकल फार्माकोलॉजी के सिद्धांतों में स्नातकोत्तर डिप्लोमा)
PGDM in Pharmaceutical Management (फार्मास्युटिकल मैनेजमेंट में पीजीडीएम)2-Years
PGDM in Technical & Analytical Chemistry (तकनीकी और विश्लेषणात्मक रसायन विज्ञान में पीजीडीएम)

स्नातक फार्मेसी पाठ्यक्रम:

भारत में दिए जाने वाले स्नातक फार्मेसी पाठ्यक्रमों की सूची नीचे दी गई है: –

कोर्स का नामअवधि
B.Pharm. (Bachelor of Pharmacy)4-Years
B.Pharm. (Hons.) (Bachelor of Pharmacy in Honours)4-Years
B.Pharm. in Pharmaceutical Chemistry (Bachelor of Pharmacy in Pharmaceutical Chemistry)4-Years
B.Pharm. in Pharmaceutics (Bachelor of Pharmacy in Pharmaceutics)4-Years
B.Pharm. in Pharmacognosy (Bachelor of Pharmacy in Pharmacognosy)4-Years
B.Pharma. in Pharmacology (Bachelor of Pharmacy in Pharmacology)4-Years
B.Pharm. in Ayurvedic (Bachelor of Pharmacy in Ayurvedic)4-Years
B.Pharm + M.B.A. (Dual Degree) (Bachelor of Pharmacy + Master of Business Administration)5-Years

फार्मेसी के पाठ्यक्रम के लिए पात्रता:

यूजी, पीजी फार्मेसी पाठ्यक्रमों की पात्रता इस प्रकार है:

अंडर ग्रेजुएट फार्मेसी कोर्सेज के लिए:

फार्मेसी में Graduation Course पाठ्यक्रमों में आवेदन करने के लिए भारत में मान्यता प्राप्त बोर्ड से न्यूनतम 50% अंकों के साथ 10 + 2 परीक्षाएं (पीसीबी) उत्तीर्ण होनी चाहिए।

या

उम्मीदवारों को न्यूनतम 50% अंकों के साथ डिप्लोमा (D.Pharm) उत्तीर्ण होना चाहिए। वे उम्मीदवार जिन्होंने TS EAMCET,AP EAMCET, BCECE, WBJEE, बी.फार्मा प्रवेश के लिए पात्र हैं।

फार्मासिस्ट के काम | Pharmacist Work

  1. फार्मासिस्ट का काम डॉक्टर द्वारा मरीज के लिए लिखी गई दवाएं मरीज को देना।
  2. रोगियों को दवाओं के सुरक्षित और प्रभावी इस्तेमाल के बारे में जानकारी देना।
  3. दवा, बीमारी और जीवनशैली में परिवर्तन से जुड़ी मरीज की उन शंकाओं का समाधान करना, जिनसे मरीज को बीमारी से उबरने में मदद मिले। हॉस्पिटल में यही फार्मासिस्ट के काम होते हैं।

फर्मासिस्ट के लिए स्किल्स | Required Skills for Pharmacist

  1. एक फार्मेसी किए हुए व्यक्ति को दवाओं के बारे में गहरी जानकारी होनी चाहिए
  2. फार्मेसी किए हुए व्यक्ति को विज्ञान विषयों खासकर लाइफ साइंस और दवाओं के बारे में रुचि हो।
  3. व्यक्ति काम के लिए कठिन परिश्रम करने वाला होना चाहिए।
  4. तार्किक सोच
  5. संवाद कुशलता और उत्पादों की बेहतर समझ
  6. व्यापार के लिए जरूरी हुनर हो
  7. रोगियों की बात को समझने का धैर्य होना चाहिए।

फार्मासिस्ट कोर्स फीस 2021 | Pharmacist Course Fee 2021

सरकारी कॉलेज या यूनिवर्सिटी में D Pharma या B Pharma कोर्स की फीस बहुत कम होती है। वंही प्राइवेट कॉलेज में इस कोर्स की फीस 50 हजार रुपये से 1 लाख रुपये प्रतिवर्ष होती है।

भारत के बेस्ट फार्मेसी कॉलेज | Best Colleges for Pharmacy in India

  • बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी, वाराणसी
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी, बीएचयू, वाराणसी
  • इंस्टिट्यूट ऑफ फार्मेसी, सी.एस.जे.एम. यूनिवर्सिटी, कानपुर
  • बॉम्बे कॉलेज ऑफ फॉर्मेसी, मुंबई
  • इंस्टिट्यूट ऑफ केमिकल टेक्नॉलजी, मुंबई
  • पूना कॉलेज ऑफ फार्मेसी, पुणे
  • राष्ट्रसंत तुकडोजी महाराज नागपुर यूनिवर्सिटी, नागपुर
  • महाराजा सयाजीराव यूनिवर्सिटी ऑफ बड़ोदा, वड़ोदरा, गुजरात
  • एल.एम. कॉलेज ऑफ फॉर्मेसी, अहमदाबाद, गुजरात
  • कॉलेज ऑफ फॉर्मेसी, दिल्ली विश्वविद्यालय, दिल्ली
  • गुरु गोबिंद सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी, न्यू दिल्ली
  • महर्षि दयानंद यूनिवर्सिटी, रोहतक
  • गुरु जंबेश्वर विश्वविद्यालय, हिसार, हरियाणा
  • नैशनल इंस्टिटयूट ऑफ फॉर्मासूटिकल एजुकेशन ऐंड रिसर्च, मोहाली, पंजाब

फार्मेसी में करियर स्कोप | Pharmacy Career Scope | Pharmacy Career in India

अगर आपका दवाओं में इंट्रेस्ट है तो फार्मेसी कोर्स आपके लिए बेस्ट ऑप्शन है क्योंकि आज के समय में तेजी से बढ़ने वाले सेक्टर्स में फार्मेसी का बहुत ज्यादा स्कोप है। इसमें मेडिकल, पैरामेडिकल और इस सेक्टर से जुड़े कारोबारों का तेजी से विकास हो रहा है। मेडिकल से जुड़ा फार्मेसी का क्षेत्र भी इस समय बड़े मौकों वाला माना जा रहा है। विभिन्न रोगों में लाभ पहुंचा सकने वाली उपयोगी दवाओं की खोज या डिवेलपमेंट में रुचि रखने वाले लोग फार्मेसी सेक्टर से रिलेटेड विभिन्न कोर्स कर Pharmacy me career बना सकते हैं। फार्मेसी में नई-नई दवाइयों की खोज व उनको डेवलप करने संबंधी कार्य किये जाते हैं। फार्मेसी में आज के समय मे शानदार कैरियर स्कोप है, फार्मेसी में आपको अनेकों कैरियर के विकल्प हैं। जैसे:-

  • हॉस्पिटल फार्मेसी,
  • क्लिनिकल फार्मेसी,
  • टेक्निकल फार्मेसी,
  • रिसर्च एजेंसीज,
  • मेडिकल डिस्पेंसिंग स्टोर,
  • सेल्स ऐंड मार्केटिंग डिपार्टमेंट,
  • एजुकेशनल इंस्टिट्यूट्स,
  • हेल्थ सेंटर्स,
  • मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव,
  • क्लिनिकल रिसर्चर,
  • मार्किट रिसर्च ऐनालिस्ट,
  • मेडिकल राइटर,
  • ऐनालिटिकल केमिस्ट,
  • फार्मासिस्ट,
  • ऑन्कॉलजिस्ट,
  • रेग्युलेटरी मैनेजर आदि के तौर पर कार्य कर सकते हैं।

फार्मेसी में कैरियर के विकल्प | Scope of Pharmacy | Career Option after Pharmacy

आज के समय में फार्मेसी में कैरियर के 1 या 2 विकल्प नही है। फार्मेसी एक ऐसा फील्ड है, जंहा पर कैरियर के बहुत से ऑप्शन आपके पास है। आप अपनी इच्छा के अनुसार किसी भी फील्ड में जा सकते है। फार्मेसी में कैरियर के बहुत से ऑप्शन सरकारी और निजी दोनों क्षेत्रों में उपलब्ध हैं। इसके अलावा इस फील्ड में खुद का स्वरोजगार में शुरू कर सकते हैं।

फार्मेसी में कैरियर: सरकारी क्षेत्र में | Pharmacy Career in Government Field

आज के समय में आप राज्य या केंद्र सरकार के अस्पतालों, स्वास्थ्य व परिवार कल्याण विभागों और सार्वजनिक दवा उत्पादन कंपनियों में फर्मासिस्ट की नियुक्ति टाइम-टाइम पर होती रहती है।  इसी तरह दवाओं के गुणवत्ता नियंत्रण और उनकी जांच के लिए नियुक्त होने वाले ड्रग इंस्पेक्टर या सरकारी विश्लेषकों के चयन के लिए भी फार्मेसी के जानकारों को भर्ती किया जाता है। इसके अलावा केंद्रीय सैन्य बलों में भी समय-समय पर  पद पर फार्मासिस्ट की नियुक्ति के लिए वैकेंसी निकली जाती हैं।

फार्मेसी में कैरियर: निजी क्षेत्र में | Pharmacy Career in Private Field

दवा का निर्माण करने और दवाओं के वितरण कार्य में लगी कंपनियां ब्रिकी व प्रचार कार्यों के लिए मेडिकल रिप्रजेंटेटिव (एमआर) की बड़े पैमाने पर नियुक्तियां करती हैं। फार्मेसी में डिप्लोमा या डिग्री प्राप्त लोगों को इस पेशे में प्राथमिकता दी जाती है। जिसमे उनका काम दवा कंपनियां के उत्पादों के बारे में डॉक्टरों को बताना और संबंधित उत्पाद की बिक्री को बढ़ाना होता है। कुल मिलकर यंहा पर आपको दवाओं की विक्री बढ़ाने और प्रमोशन करना होता है।

ड्रग मैन्युफैक्चरिंग में कैरियर | Career in Drug Manufacturing

यह ड्रग मैन्युफैक्चरिंग फार्मेसी की अहम शाखा है। इस ड्रग मैन्युफैक्चरिंग क्षेत्र में मॉलिक्युलर बायॉलजिस्ट, फार्मेकॉलजिस्ट, टॉक्सिकॉलजिस्ट या मेडिकल इंवेस्टिगेटर के तौर पर आप काम कर सकते हैं । इसमे मॉलिक्युलर बायॉलजिस्ट जीन संरचना और मेडिकल व ड्रग रिसर्च में प्रोटीन के इस्तेमाल का अध्ययन कराया जाता है। फार्मेकॉलजिस्ट इंसान के अंगों व ऊतकों पर दवाइयों के प्रभाव का अध्ययन करता है। टॉक्सिकॉलजिस्ट दवाओं के नेगेटिव इफेक्ट को मापने के लिए टेस्टिंग करता है। मेडिकल इंवेस्टिगेटर नई दवाइयों के विकास व टेस्टिंग की प्रक्रिया से जुड़ा फील्ड है।

प्राइवेट हॉस्पिटल में फार्मासिस्ट कैरियर | Pharmacist Career in Private Sector

सिर्फ सरकारी हॉस्पिटल में ही  नहीं बल्कि प्राइवेट हॉस्पिटल में भी फार्मासिस्ट की जरूरत होती है। हॉस्पिटल फार्मासिस्ट्स पर दवाइयों और चिकित्सा संबंधी अन्य सहायक सामग्रियों के भंडारण, स्टॉकिंग और वितरण का जिम्मा होता है, जबकि रिटेल सेक्टर में फार्मासिस्ट को एक बिजनेस मैनेजर की तरह काम करते हुए दवा संबंधी कारोबार चलाने में समर्थ होने की योग्यता होनी चाहिए।

क्वॉलिटी कंट्रोलर में फार्मासिस्ट कैरियर | Pharmacist Career in Quality Control

फार्मासूटिकल इंडस्ट्री का यह क्वॉलिटी कंट्रोलर एक बहुत अहम कार्य माना जाता है। इसमे नई दवाओं के संबंध में अनुसंधान व विकास के अलावा यह सुनिश्चित करने की भी जरूरत होती है कि इन दवाइयों के जो नतीजे बताए जा रहे हैं, वे सुरक्षित, स्थायी और आशा के अनुरूप हैं या नही।

क्लिनिकल रिसर्च में फार्मासिस्ट कैरियर | Pharmacist Jobs in Clinical Research

क्लिनिकल रिसर्च में फार्मासिस्ट के अंतर्गत नई लॉन्च मेडिसिन के बारे में रिसर्च होती है कि वह कितनी सुरक्षित और असरदार है। इसके लिए क्लिनिकल ट्रॉयल होता है। देश में कई विदेशी कंपनियां क्लिनिकल रिसर्च के लिए आ रही हैं। दवाइयों की स्क्रीनिंग संबंधी काम में नई दवाओं या फॉर्मुलेशन का पशु मॉडलों पर परीक्षण करना या क्लिनिकल रिसर्च करना शामिल होता है।

कॉमर्स स्ट्रीमसाइंस स्ट्रीमआर्ट्स स्ट्रीम

 

Spread the love

Leave a Comment