वन रैंक वन पेंशन योजना 2023 | One Rank One Pension Yojana 2023, Registration, Benefits, Eligibility

नमस्कार दोस्तों आप सभी का हार्दिक स्वागत है हमारे ब्लॉग पर। दोस्तों आज हम पेंशन से जुड़ी एक योजना के विषय में बात करने वाले हैं। इस योजना का नाम है वन रैंक वन पेंशन योजना। शायद आप में से बहुत लोग इस योजना से अवगत भी होंगे और बहुत लोगों के लिए यह योजना नया है। वन रैंक वन पेंशन योजना को केंद्र सरकार द्वारा शुरू किया गया है। इस योजना का लाभ आर्मी से रिटायर्ड होने वाले सैनिक को मिलेगा।

आज हम अपने ब्लॉग के माध्यम से विस्तार से चर्चा करने वाले हैं। वन रैंक वन पेंशन योजना के विषय में। इसलिए अंत तक हमारे ब्लॉग को पढ़ना बिल्कुल भी ना भूले।

वन रैंक वन पेंशन योजना 2023 क्या है? | One Rank One Pension Yojana 2023

  • वन रैंक वन पेंशन योजना भारतीय सशस्त्र बलों की लंबे समय से चली आ रही मांगों में से एक है।
  • पहले आर्मी में नियम था- बड़ी पोस्ट वाले ऑफिसर जब रिटायर होते थे तो उन्हें दूसरे ऑफिसर के मुकाबले रिटायरमेंट के दौरान ज्यादा पैसा दिया जाता था।
  • ज्यादा पैसा देने के लिए ही विरोध होता था कि क्यों एक ही रैंक पर काम करने वाले व्यक्ति को अलग-अलग पैसे रिटायरमेंट के दौरान दिए जाते थे।
  • भारत देश के रिटायर्ड सैनिक ऑफिसर वन रैंक वन पेंशन योजना के माध्यम से यही चाहते हैं कि सभी रिटायर्ड आर्मी ऑफिसर को एक ही जैसा पेंशन मिले। किसी भी ऑफिसर के साथ भेदभाव ना हो किसी को कम एवं किसी को ज्यादा पैसा ना मिले।

लिवेबिलिटी इंडेक्स प्रोग्राम 2023

 

वन रैंक वन पेंशन योजना का उद्देश्य | One Rank One Pension Yojana 2023 : Objectives

  • वन रैंक वन पेंशन योजना का मुख्य उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि एक ही रैंक में सेवानिवृत्त होने वाले सशस्त्र बलों के कर्मियों को एक समान पेंशन दी जाए और सेवा की समय सीमा भी लंबी हो।
  • इस पेंशन का भुगतान सेवानिवृत्ति की तारीख पर ध्यान दिए बिना किया जाएगा और पेंशन की दर में भविष्य में कोई भी वृद्धि पिछले पेंशन भोगियों को स्वत: ही पारित कर दी जाएगी ।
  • इस योजना का आधार कर्मियों की रैंक और सेवा की लंबाई है। उदाहरण के लिए, 10 साल की सेवा के बाद 1980 में रिटायर हुए एक कप्तान को एक ऐसे कप्तान के रूप में पेंशन मिलनी चाहिए जो 10 साल की सेवा के बाद 2010 में रिटायर हुए थे।
  • इस प्रकार, वन रैंक वन पेंशन योजना का उद्देश्य है वर्तमान पेंशन भोगियों और पिछले पेंशन भोगियों के बीच पेंशन की एकरूपता लाना है।
  • सभी रिटायर्ड ऑफिसर को एक जैसा पेंशन दिलाना ही केंद्र सरकार का एवं वन रैंक वन पेंशन योजना का उद्देश्य है।

प्रधानमंत्री सांसद आदर्श ग्राम योजना 2023

 

वन रैंक वन पेंशन योजना के लिए कितना बजट तय किया गया है? | One Rank One Pension Yojana 2023 : Budgets

वन रैंक वन पेंशन योजना के लिए जो बजट केंद्र सरकार की ओर से तय किया गया है। वह कुछ इस प्रकार हैं-

  • वर्ष 2011 में रक्षा मंत्रालय की ओर से यह कहा गया था कि वन रैंक वन पेंशन योजना में 3000 करोड़ रुपए का खर्च आएगा।
  • वर्ष 2014 में रक्षा मंत्रालय की ओर से 1 साल का वार्षिक खर्च वन रैंक वन पेंशन योजना के लिए 9300 करोड़ बताया गया।
  • वर्ष 2015 में रक्षा राज्य मंत्री के अनुसार 2015 में कुल वार्षिक खर्च वन रैंक वन पेंशन योजना के लिए 10 हजार करोड़ बताए गए।
  • वही अगर 2020 की बात करें तो वर्ष 2020 का वन रैंक वन पेंशन योजना का अनुमानित खर्चा ₹10900 करोड़ था।
  • वर्ष 2023 का कोई अपडेट अभी नहीं है।

वन रैंक वन पेंशन योजना का मुख्य लाभ क्या है? | One Rank One Pension Yojana 2023 : Benefits

  • वन रैंक वन पेंशन योजना का सबसे पहला और प्रमुख लाभ तो यह है कि भारतीय सेना के सभी सैनिकों को रिटायरमेंट के बाद एक जैसा ही पेंशन मिलेगा। किसी को कम एवं किसी को ज्यादा पेंशन नहीं मिलेगा।
  • 10 साल पहले रिटायर हुए सैनिक एवं 10 साल बाद रिटायर हुए सभी सैनिकों को एक जैसा ही पेंशन की राशि प्राप्त होगी।
  • केंद्र सरकार की ओर से रिटायर हुए सैनिकों को एरियर भी दिया जाएगा।
  • भारत देश के लगभग 1400000 सैनिकों एवं अफसरों को वन रैंक वन पेंशन योजना का लाभ मिलेगा।
  • सैनिकों को बकाया राशि भी एक ही बार में दे दिया जाएगा वन रैंक वन पेंशन योजना के माध्यम से।
  • भविष्य में हर 5 साल में पेंशन फिर से तय हो सकेगी।

प्रधानमंत्री खनिज क्षेत्र कल्याण योजना 2023

 

वन रैंक वन पेंशन योजना 2023 से जुड़ी कुछ खास बातें | One Rank One Pension Yojana 2023 : Guidelines

  • भारतीय सेना में जो सैनिक अपनी मर्जी के अनुसार रिटायर हुए हैं। उन्हें वन रैंक वन पेंशन योजना के तहत किसी भी प्रकार का कोई लाभ नहीं दिया जाएगा।
  • चार छमाही किस्तों में बकाया राशि का भुगतान किया जाएगा। युद्ध विधवाओं सहित सभी विधवाओं को एक किस्त में बकाया भुगतान किया जाएगा।
  • जिन सैनिकों को वीरता पुरस्कार मिले हैं उनको सभी बकाया राशि का भुगतान केंद्र सरकार की ओर से एक बार में ही वन रैंक वन पेंशन योजना के द्वारा कर दिया जाएगा।
  • जो पेंशनर पारिवारिक है उन्हें भी बकाया राशि मिल जाएगा।

वन रैंक वन पेंशन योजना का लाभ कैसे सैनिकों को मिलेगा? | One Rank One Pension Yojana 2023 : Benefits for Solders 

  • वन रैंक वन पेंशन योजना का लाभ उठाने के लिए सैनिकों को केंद्र सरकार द्वारा प्रदान किए गए ऑनलाइन पोर्टल का सहारा लेना होगा।
  • वन रैंक वन पेंशन योजना का ऑनलाइन पोर्टल है- https://www.desw.gov.in/orop
  • वन रैंक वन पेंशन योजना के आधिकारिक वेबसाइट पर पेंशन योजना से जुड़ी सभी जानकारी दी गई हैं।
  • सैनिकों को पेंशनरों के लिस्ट में अपना नाम देखना है।
  • वन रैंक वन पेंशन योजना के ऑफिशल वेबसाइट पर सभी रिटायर्ड ऑफिसर का विवरण दिया गया है।

प्रधानमंत्री ऑपरेशन डिजिटल बोर्ड 2023

 

दोस्तों आज हमने जाना वन रैंक वन पेंशन योजना के विषय में जिसकी मांग भारतीय सैनिकों द्वारा बहुत सालों से की जा रही थी। मोदी सरकार ने सत्ता में आने के बाद सैनिकों के इस मांग को पूरा किया और वन रैंक वन पेंशन योजना को स्वीकृति प्रदान किया।

वन रैंक वन पेंशन योजना के माध्यम से अब भारतीय सेना के सभी जवानों को रिटायर होने के बाद एक जैसा ही पेंशन मिलेगा। जो कि बहुत अच्छी बात है बिना किसी भेदभाव को सभी को एक जैसा ही पेंशन मिलेगा।

वन रैंक वन पेंशन योजना के तहत केवल उन सैनिकों को कोई लाभ नहीं मिलेगा जिन्होंने खुद से अपनी रिटायरमेंट ली है।

दोस्तों हमारे ब्लॉग को ज्यादा से ज्यादा शेयर कीजिए ताकि दूर-दूर तक लोगों को इस योजना के विषय में विस्तार से जानकारी मिल सके।

PM YojanaGraduation CourseSarkari YojanaIndia Top ExamExcel Tutorial
Spread the love

Leave a Comment