प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2022 | PM Fasal Bima Yojana 2022 | Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana 2022, Registration, Benefits, Eligibility

देश में किसानों की उन्नति के लिए सरकार द्वारा काफी सारी योजनाएं आरंभ की गई है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना भी देश के किसानों के लिए आरंभ की गई एक नई योजना है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत देश के किसानों को किसी भी प्राकृतिक आपदा के कारण फसल में बर्बादी होने पर बिना प्रदान किया जाएगा। इस योजना का कार्यान्वयन भारतीय कृषि बीमा कंपनी द्वारा किया जाता है।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में केवल प्राकृतिक आपदा जैसे कि सूखा पड़ना पड़ना आदि शामिल है। यदि किसी और वजह से फसल का नुकसान होता है तो बीमा की राशि प्रदान नहीं की जाएगी। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार द्वारा 800 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया है।

इस योजना के अंतर्गत किसानों को और का 1.5% भुगतान बीमा कंपनी को करना होगा जिस पर उन्हें बीमा प्रदान किया जाएगा। यदि कोई भी आवेदन करना चाहता है इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आवेदन कर सकता है।

इस योजना का लाभ सरकार द्वारा इस योजना की नियमों में कुछ बदलाव किए गए हैं। नियमों के अंतर्गत किसानों को फसल प्राकृतिक आपदा के कारण नुकसान होता है तो उसे स्थिति में बीमा कंपनी द्वारा प्रदान किया जाएगा। कटाई के दौरान ही आग लग जाती थी या फिर भी स्थिति में किसानों को नुकसान हो जाता था स्थिति में बीमा का अकेले किसान को ही मिलता था। यह लाभ सामूहिक होता था इस प्रक्रिया के अंतर्गत कई बार ऐसा होता था कि उन किसानों को भी योजना का लाभ मिल जाता था; जिनका कोई नुकसान नहीं हुआ है और कई नुकसान उठाने वाले किसान इस योजना का लाभ पूरी तरह से प्राप्त नहीं कर पाते थे।

प्रधानमंत्री जल जीवन योजना 2022

 

इस नई व्यवस्था के अंतर्गत अलग-अलग किसानों को पूरी फसल के नुकसान का लाभ प्रदान किया जाएगा। यह लाभ प्राप्त करने के लिए किसानों को अपने सभी दस्तावेजों के साथ किसी बैंक से संपर्क करना होगा। इसके पश्चात धान एवं गेहूं प्रति हेक्टेयर की निर्धारित रकम का किसान द्वारा डेढ़ से 2 फ़ीसदी प्रीमियम जमा किया जाएगा; जिसके पश्चात किसानों को इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2022 का उद्देश्य | Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana 2022 : Objectives

भारत में अधिकतर खेती करने वाले किसानों को फसलों में होने वाले नुकसान पर सरकार मदद करेगी। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2021 के अंतर्गत किसानों को खेती में रुचि बनाए रखना तथा स्थाई आमदनी उपलब्ध करवाना ही इस योजना का उद्देश्य है।

इस योजना में किसानों की फसलों में होने वाले नुकसान एवं चिंताओं से मुक्त कराना और लगातार खेती करने के लिए किसानों को बढ़ावा देना और भारत को विकसित तथा प्रगतिशील बनाना ही इसका एकमात्र उद्देश्य है।

प्रधानमंत्री स्वस्थ भारत अभियान 2022

 

31 जुलाई 2022 से पहले पंजीकरण | Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana 2022 : Registration

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत किसानों को किसी प्राकृतिक आपदा के कारण फसल में होने वाली बर्बादी पर बीमा कवर प्रदान किया जाता है। सरकार द्वारा इस योजना के  कार्यान्वयन का पूरा ध्यान रखा जाता है। जिला स्तर पर परियोजना अधिकारी व सरवर इस योजना के कार्यान्वयन के लिए नियुक्त किए गए हैं। यह परियोजना अधिकारी  सिर्फ प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का ही कार्य करते हैं। इसके अलावा बीमा कंपनी द्वारा भी जिला एवं ब्लॉक स्तर पर अपनी कर्मचारियों की नियुक्ति योजना के कार्यान्वयन के लिए हो गई है। सरकार द्वारा सभी किसानों की शिकायतों का निपटान करने के लिए एक शिकायत निवारण समिति का भी गठन किया गया है, यह शिकायत निवारण समिति जिला स्तर पर कार्यरत है।

इस योजना के अंतर्गत हरियाणा में वर्ष 2021 में खरीफ सीजन में धान मक्का बाजरा व कपास एवं रबी सीजन में गेहूं चना सरसों तथा सूरजमुखी फसलों का बीमा किया जाता है। वह सभी किसान योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं उन्हें 31 जुलाई, 2021 से पहले पोर्टल पर पंजीकरण करवाना होगा।

प्रधानमंत्री महिला शक्ति केंद्र 2022

 

योजना का लाभ उठाने के लिए बैंक में लिखित सूचना | Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana 2022 : Benefits

  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना देश के सभी किसानों के लिए स्वैच्छिक है। यदि कोई भी ऋण लेने वाला किसान इस योजना का लाभ प्राप्त नहीं करना चाहता तो इससे इस बात की जानकारी 24 जुलाई, 2022 तक अपने बैंकों की लिखित में देनी होगी।
  • इसके पश्चात उस किसान को इस योजना से बाहर कर दिया जाएगा। यह भी किसान द्वारा तय सीमा तक कोई भी जानकारी बैंकों को नहीं प्रदान की गई तो बैंक द्वारा किसान का पंजीकरण इस योजना के अंतर्गत कर दिया जाएगा।
  • बीमा के प्रीमियम की राशि भी काट ली जाएगी वह सभी किसान योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं; अपना आवेदन ग्राहक सेवा केंद्र या बीमा कंपनी के प्रतिनिधि के माध्यम से कर सकता है।
  • यदि किसी भी किसान द्वारा पहले से नियोजित फसल में कोई बदलाव किया जाता है तो उसे इस बात की जानकारी आवेदन की अंतिम तिथि पर 2 दिन पहले बैंक को देनी होगी।

प्रधानमंत्री नमामि गंगे योजना 2022

 

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2022 के अंतर्गत अब तक किए गए भुगतान | Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana 2022 : Payments

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत किसानों को फसल पर प्राकृतिक आपदाओं से होने वाले नुकसान पर

आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है यह योजना 13 जनवरी, 2016 को आरंभ की गई थी। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत बाढ़ आंधी तेज बारिश आंधी के चलते फसल को हुए नुकसान पर किसानों को अधिक सहायता प्रदान की जाती थी। इस योजना को भारतीय कृषि बीमा कंपनी द्वारा संचालित किया जाता है।

फसल बीमा योजना के अंतर्गत 1 वर्ष में लगभग 5.5 करोड किसानों के आवेदन आते हैं और इस योजना में अब तक 90000 करोड रुपए के दावों का भुगतान किया गया है। कोविड-19 के दौरान प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत 7 करोड़ किसानों को 8741.30 करोड रुपए दान किए गए हैं।

  • इस योजना के अंतर्गत अतिरिक्त प्रीमियम की राशि राज्य एवं भारत सरकार द्वारा प्रदान किया जाता है और पूर्वोत्तर राज्यों में 90 फ़ीसदी प्रीमियम की राशि भारत सरकार द्वारा प्रदान की जाती है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्ग बीमित राशि रुपए 40700 कर दी गई है, यह राशि पहले रुपए 1500 प्रति हेक्टेयर थी।
  • इस योजना के अंतर्गत बुवाई से पहले से लेकर कटाई के बाद तक के पूरे समय को शामिल किया गया है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत रोकी गई बुवाई और पसंद के बीच होने वाली प्राकृतिक आपदाओं से होने वाला नुकसान भी शामिल किया गया है। इस योजना के अंतर्गत समय-समय पर सुधार किए गए हैं जिससे कि इसे फ्लैक्सिबल बनाया जा सके।

प्रधानमंत्री खनिज क्षेत्र कल्याण योजना 2022

 

टोल फ्री नंबर | Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana Helpline Number 2022 | PM Fasal Bima Yojana Helpline Number 2022

इस योजना से संबंधित अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहता है तो वह किसान कल्याण विभाग द्वारा जारी किए गए टोल फ्री नंबर पर संपर्क कर सकते हैं। इसके अलावा बैंक शाखा बीमा कंपनी से संपर्क करके भी इस योजना से संबंधित जानकारी प्राप्त की जा सकती है।

टोल फ्री नंबर: 1800 180 2117

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को देश के किसानों को किसी प्राकृतिक आपदा के कारण होने वाले फसल के नुकसान पर इंश्योरेंस कवर प्रदान करने के लिए आरंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से अब तक लाखों किसानों को लाभ पहुंचाया गया है। सरकार द्वारा समय-समय पर इस योजना की समीक्षा की जाती है एवं सभी हितग्राहियों से संवाद किया जाता है।

PM YojanaGraduation CourseSarkari YojanaIndia Top ExamExcel Tutorial
Spread the love

Leave a Comment